DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो दिनों से सीटी स्कैन दिखाने के लिए काट रहे चक्कर

दो दिनों से सीटी स्कैन दिखाने के लिए काट रहे चक्कर

पिछले 24 घंटे से डॉक्टर को सीटी स्कैन दिखाने के लिए एसकेएमसीएच के मेडिसिन वार्ड में सीतामढ़ी छतौनी की मालती देवी के परिजन चक्कर लगा रहे हैं। लेकिन डॉक्टर टालमटोल कर उन्हें टहला दे रहे हैं।

मानसिक रोग के नाम पर उसको मेडिसिन वार्ड में भर्ती कर इलाज किया जा रहा है। इसी क्रम में डॉक्टरों ने उसका सीटी स्कैन करवाया। मनोरोग विभाग के ओपीडी में मंगलवार को ही भेजा। मालती के पति सुनील रजक ने बताया कि नौ नंबर मानसिक रोगी के ओपीडी में गया। वहां जाने पर कहा गया कि नर्स के साथ आओ। नर्स को कहा तो कही कि उसको पहले से अधिक काम है। कोई नहीं सुन रहा है। पत्नी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है इसके कारण इसको छोड़कर भी नहीं जा सकते हैं। वहीं इस बाबत अधीक्षक डॉ. एसके शाही ने बताया कि उनकी जानकारी में केस नहीं है, लेकिन जांच करवाएंगे। कोई भी डॉक्टर किसी मरीज को परेशान नहीं कर सता।

डॉक्टर ने कहा, मानसिक रोग विभाग में नहीं होता सीटी स्कैन

मरीज का सीटी स्कैन नहीं देखने व उसे परेशान करने की बात जब अधिकारियों तक पहुंची तो विभाग के विशेषज्ञ की अलग ही राय थी। इस बारे में एसकेएमसीएच के मानसिक रोग विशेषज्ञ डॉ. आईडी सिंह ने बताया कि उक्त महिला को मेडिसिन वार्ड में भर्ती किया गया है। सबसे पहली बात यह है कि एसकेएमसीएच में मानसिक रोगी को भर्ती नहीं करना है। यह सरकार का आदेश है। दूसरी बात यह है कि मानसिक रोगी का इलाज होता है। सीटी स्कैन नहीं किया जाता है। शिवहर की जो महिला के बारे में ओपिनियन मांगा गया था। राय दिए है कि उसको कोइलवर भेज दिया जाए। वहां दवा भी मिलेगी। डेढ़ माह भर्ती कर सफलतापूर्वक इलाज होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Chatting for showing CT scan for two days