DA Image
29 नवंबर, 2020|9:42|IST

अगली स्टोरी

मवेशियों का नहीं हुआ टीकाकरण, फैल रही बीमारियां

default image

कोरोना संक्रमण और अब चुनाव की तैयारियों में विभाग की व्यस्तता के कारण जिले के बेजुबान मवेशियों की जान खतरे में है। इस वर्ष मवेशियों में संक्रमण और बीमारी रोकने के लिए एक भी टीकाकरण अभियान नहीं चलाया गया है। जबकि बीते अन्य वर्षों के हिसाब से अबतक मवेशियों को चार टीका पड़ जाता था। इस वर्ष जनवरी-फरवरी में एक टीकाकरण अभियान शुरु हुआ था। लेकिन कोरोना के कारण निडिल की समस्या होने की वजह से बीच में टीकाकरण को रोक दिया गया। इसके बाद तीन टीकाकरण का समय गुजर गया फिर भी गलघोटू और मुंहपका-खुरपका जैसे महत्वपूर्ण टीकाकरण भी विभाग की ओर से नहीं चलाया गया। टीकाकरण नहीं होने के कारण ग्रामीण इलाकों में मवेशी बीमार होने लगे है। उनके शरीर पर बड़े-बड़े फोड़े भी निकल रहे है। लाल चकत्ता, मुंह से झाग निकलना, एलर्जी और बुखार जैसी बीमारी होने लगी है। पशुपालकों ने बताया कि ग्रामीण इलाकों में काफी संख्या में मवेशी बीमार हो रहे है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Cattle not vaccinated diseases spreading