ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार मुजफ्फरपुरफकुली दुर्घटना में घायल दो मरीजों को एसकेएमसीएच से उठा ले गए दलाल

फकुली दुर्घटना में घायल दो मरीजों को एसकेएमसीएच से उठा ले गए दलाल

फकुली ओपी के बलिया में ट्रक से ऑटो की भिड़ंत में तीन मौत और करीब सात लोगों के गंभीर रूप से घायल होने के मामले में निजी अस्पताल के दलालों की घिनौनी...

फकुली दुर्घटना में घायल दो मरीजों को एसकेएमसीएच से उठा ले गए दलाल
हिन्दुस्तान टीम,मुजफ्फरपुरWed, 29 Nov 2023 01:30 AM
ऐप पर पढ़ें

मुजफ्फरपुर, वरीय संवाददाता
फकुली ओपी के बलिया में ट्रक से ऑटो की भिड़ंत में तीन मौत और करीब सात लोगों के गंभीर रूप से घायल होने के मामले में निजी अस्पताल के दलालों की घिनौनी करतूत सामने आई है। पुलिस ने घायलों को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया था। इसमें से घायल सिंकी कुमारी और प्रियंका कुमारी को एसकेएमसीएच से उठाकर दलाल जबरन निजी अस्पताल में ले जाकर भर्ती कर दिया। सोमवार देर रात से मंगलवार सुबह तक निजी अस्पताल में दोनों के इलाज का बिल 80 हजार रुपये बताकर शीघ्र जमा कराने का दबाव परिजनों पर बनाया गया। इसके बाद परिजनों ने एसकेएमसीएच ओपी में इसकी शिकायत की।

सिंकी के पति सुनील कुमार ने एसकेएमसीएच ओपी अध्यक्ष को आवेदन देकर बताया कि वह और परिवार के लोग दुर्घटना में मरे लोगों को लेकर एसकेएमसीएच में भाग दौड़कर रहे थे। इसी दौरान निजी अस्पताल का दलाल उनकी घायल पत्नी सिंकी कुमारी और बहन प्रियंका कुमारी को एसकेएमसीएच से जबरन उठाकर विजय छपरा में फोरलेन किनारे स्थित एक निजी अस्पताल में ले जाकर भर्ती करा दिया। हमलोगों को पता चला तो वे तुरंत निजी अस्पताल पहुंचे। जहां मरीज को आईसीयू में भर्ती किए जाने की बात बताकर शीघ्र दवा आदि खरीदकर मंगवाया जाने लगा। सुबह में मरीज के इलाज पर 80 हजार रुपये के खर्च का बिल बताकर जमा कराने का दबाव बनाया गया। अस्पताल प्रबंधन की ओर से कहा गया कि 80 हजार रुपये जमा कराने के बाद ही अब आगे का इलाज होगा। सुनील की शिकायत पर एसकेएमसीएच ओपी अध्यक्ष ने तुरंत संज्ञान लिया और निजी अस्पताल में छापेमारी कर मरीज को वहां से लाकर पुन: एसकेएमसीएच में भर्ती कराया। अब दोनों का अन्य घायलों के साथ इमरजेंसी वार्ड में इलाज चल रहा है। ओपी अध्यक्ष ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज से दलाल को चिह्नित कर कार्रवाई की जाएगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें