DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ब्रजेश के कर्मी की रिमांड अवधि चार दिन और बढ़ी

ब्रजेश के कर्मी की रिमांड अवधि चार दिन और बढ़ी

बालिका गृह कांड के किंगपिन ब्रजेश ठाकुर के सफाईकर्मी चकबासू निवासी कृष्णा कुमार राम की रिमांड अवधि और चार दिनों के लिए बढ़ा दी गई है। गुरुवार को विशेष पॉक्सो कोर्ट से सीबीआई ने पांच दिनों की रिमांड मांगी थी। सुनवाई के बाद कोर्ट ने चार दिनों की रिमांड की अनुमति दी।

कोर्ट में पेशी से पहले सीबीआई ने सदर अस्पताल में कृष्णा की मेडिकल जांच कराई। इसके बाद उसे कोर्ट में पेश किया। इससे पूर्व मंगलवार को सीबीआई ने कृष्णा को तीन दिनों की रिमांड पर लिया था। गुरुवार को सीबीआई की टीमों ने कृष्णा के साथ ब्रजेश ठाकुर के मामा रामानुज ठाकुर से भी मिठनपुरा स्थित कैंप कार्यालय में घंटों पूछताछ की।

कृष्णा व रामानुज से आमने-सामने पूछताछ : सूत्रों की मानें तो रामानुज व कृष्णा को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की गई। टीम ने प्रेस व बालिका गृह में काम करने वालों की सूची भी इनकी निशानदेही पर तैयार की। कई बिंदुओं पर दोनों का बयान एक जैसा था जबकि कुछ अन्य बिंदुओं पर बयान में अंतर पाया गया। सीबीआई इसके सत्यापन में जुटी है।

ब्रजेश के रिश्तेदारों की खंगाली जा रही कुंडली : सीबीआई ब्रजेश ठाकुर के रिश्तेदारों की भी कुंडली खंगाल रही है। टीम ने रामानुज से ब्रजेश के पैतृक, ससुराल और ननिहाल पक्ष के रिश्तेदारों के संदर्भ में जानकारियां जुटाई। रामानुज के अलावा कौन-कौन रिश्तेदार बालिका गृह और प्रेस में नौकरी करते थे, इसकी भी जानकारी ली। बताया जाता है कि रामानुज ठाकुर प्रेस का सबसे पुराना कर्मचारी है। वह ब्रजेश ठाकुर के पिता के समय से साहू रोड स्थित प्रेस में गेटकीपर की नौकरी करता था। साथ ही सरकारी कार्यालयों में अखबार भी बांटता था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Brijesh s worker s remand period increased by four more days