DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्लीनिक की जांच रिपोर्ट नहीं भेजने पर ब्रह्मपुरा थानेदार तलब

आदेश के बावजूद क्लीनिक की भौतिक सत्यापन रिपोर्ट दाखिल नहीं करने पर सीजेएम कोर्ट ने ब्रह्मपुरा थानेदार को जवाब तलब किया है। इस संबंध में अधिवक्ता विनोद कुमार अग्रवाल ने कोर्ट में अर्जी दाखिल की थी। इसमें अधिवक्ता ने बताया था कि पटना हाईकोर्ट ने एमसीआई की बिहार शाखा व ब्रह्मपुरा थानेदार को एक क्लीनिक का भौतिक सत्यापन करने का निर्देश दिया था। सीजेएम कोर्ट से भी तीन दिसंबर 2016 को निर्देश दिया गया, लेकिन दो साल के बाद भी रिपोर्ट लंबित है। मामला छह वर्ष पूर्व का है। जूरन छपरा स्थित क्लीनिक में रामबाग चौरी निवासी मनीष कुमार की गर्भवती पत्नी की मौत ऑपरेशन के दौरान हो गई थी। अधिवक्ता ने क्लीनिक की संचालिका के खिलाफ मानवाधिकार आयोग में शिकायत की थी। आयोग के निर्देश पर जिला प्रशासन ने क्लीनिक व डॉक्टर के योग्यता की जांच कराई। जांच रिपोर्ट में बताया गया कि डॉक्टर के पास ऑपरेशन की डिग्री नहीं थी। क्लीनिक में ऑपरेशन के लिए पर्याप्त संसाधन नहीं थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Brahmapura police inspector not sending report on clinic inquiry