DA Image
26 मई, 2020|10:58|IST

अगली स्टोरी

बीआरएबीयू : तीन माह से अधिक पीछे हुआ सत्र

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय की तमाम परीक्षाओं पर ब्रेक लगने के कारण स्नातक का शैक्षणिक सत्र कम से कम तीन महीने पीछे चला गया है। पीजी का एक साल देर से चल रहा सत्र अब और पीछे हो जाएगा। कोरोना वायरस के कारण विवि की करीब एक दर्जन परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। 
राजभवन की ओर से जून तक स्नातक की तमाम परीक्षाओं को लेकर रिजल्ट जारी करने का आदेश दिया था। स्नातक पार्ट-थ्री की प्रायोगिक परीक्षा 15 मार्च से होने वाली थी। इसी के साथ थ्यौरी का फॉर्म भरा जाना था। इसके बाद पार्ट वन व टू की परीक्षा होनी थी। बीएड की परीक्षा भी स्थगित कर दी गई है। पीजी सत्र 2018-20 के फर्स्ट सेमेस्टर की परीक्षा का एक पेपर बचा है। पीजी के पांचवें पेपर पर्यावरण की परीक्षा बची हुई है। वोकेशनल कोर्सों की परीक्षाएं भी रुक गई हैं। 
बताया जा रहा है कि वर्तमान स्थिति के अनुसार स्नातक की परीक्षा कब शुरू होगी, यह अभी निर्धारित  नहीं है। लेकिन वर्तमान में जो हालत है, उसके अनुसार अप्रैल महीने के मध्य तक ही परीक्षा शुरू हो सकेगी। इसमें भी स्नातक पार्ट-थ्री में सबसे पहले प्रायोगिक परीक्षा होगी। इसके बाद ही स्नातक पार्ट- वन व टू की परीक्षा होगी। ऐसे में इनका रिजल्ट जून के बाद ही आने की संभावना है। इधर, विवि के प्रवक्ता डॉ. सतीश कुमार राय ने कहा कि परीक्षा की तैयारी चल रही थी लेकिन कोरोना वायरस के कारण फिलहाल परीक्षाएं टल गई है। उन्होंने कहा कि सत्र ढाई से तीन महीने पीछे होगा। लेकिन प्रयास है कि यह ज्यादा पीछे न जाए। बता दें कि समय पर परीक्षा पूरी हो जाने से विवि का सत्र सुधर जाएगा। इससे छात्रों को लाभ होगा और उन्हें इंतजार नहीं करना पड़ेगा।   

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:BRABU : session over three months behind