DA Image
25 अक्तूबर, 2020|12:47|IST

अगली स्टोरी

औराई में बागमती के जलस्तर में कमी, सड़क पर दबाव बढ़ा

default image

बागमती के जलस्तर में सोमवार देर रात से मंगलवार शाम तक काफी कमी आयी। गांवों में फैला बाढ़ का पानी निकलने से लोगों ने थोड़ी राहत की सांस ली है। हालांकि बांध के अंदर विस्थापितों की समस्याए कम नहीं हुई हैं। एक दर्जन गांवों के लोग अब भी आवागमन की समस्या से घिरे हुए हैं।

लोग चचरी पुल बहने के बाद अब निजी नाव के सहारे रोजमर्रा के सामान लेने के लिए आवागमन कर रहे हैं। अधिकांश गांवों के चारों ओर से बाढ का पानी लौटकर मुख्य व उपधाराओं में सिमट गया है। विस्थापित परिवार के संपन्न लोग अपने बुते निजी नावों का निर्माण कराना आरंभ कर दिया है। पशुचारा के लिए अब पानी की जगह पशुपालक कदई व दलदल को पार कर चारा ला रहे हैं। प्रभावित गांव से तमाम पशुओं, बिमार, बुजुर्गों को परिजनों ने तटबंध पर बनी झोपड़ियों में लाना आरंभ कर दिया है। सबसे बड़ी समस्या भरथुआ पंचायत के मधुवन बेसी कुशवाहा टोला का बना हुआ है जहां लखनदेई के जलस्तर बढ़ने से ग्रामीण सड़क पर दवाव बना हुआ है। दो फीट पानी बढ़ने से साथ ही सड़क टूट जाएगी। भ्रमण के दौरान जदयू के कार्यकारी अध्यक्ष मो. साकिब को ग्रामीणों का आक्रोश झेलना पड़ा। ग्रामीण रविन्द्र कुशवाहा, रामसुफल सिंह समेत दर्जनों लोगों ने सरकार पर अनदेखी का आरोप लगाया। गांव में जाने से रोक दिया। बाद में ग्रामीणों से लिखित आवेदन लेकर सीओ से मिलकर बांस बल्ली लगाकर सड़क पर मिट्टी डालकर सड़क बचाने की मांग की गई। सीओ ज्ञानानंद ने पीओ से बात कर निदान की बात कही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bagmati 39 s water level decreased in Aurai road pressure increased