Alert Threatened Threat to Indo-Nepal Border - अलर्ट : भारत-नेपाल सीमा पर बढ़ा आतंकी खतरा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अलर्ट : भारत-नेपाल सीमा पर बढ़ा आतंकी खतरा

अलर्ट : भारत-नेपाल सीमा पर बढ़ा आतंकी खतरा

पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन एक बार फिर पूर्वोत्तर को दहलाकर देश में अशांति फैलाने की ताक में है। आतंकी काफी हद तक अपनी तैयारी पूरी भी कर चुके हैं। पाकिस्तान से चीन-म्यांमार की सीमा होते हुए नागालैंड होकर चली 15 किलो विस्फोटक की बड़ी खेप असम पहुंच चुकी है। असम में मौजूद उल्फा कमांडर नयन मेधी के हाथ में विस्फोटक की डिलीवरी भी आठ से दस जनवरी के बीच हो चुकी है। सूचना पर खुफिया विभाग ने पूरे देश में

अलर्ट जारी किया है। बिहार-नेपाल सीमा पर विशेष सर्तकता बरतने को कहा गया है।

खुफिया विभाग ने जो अलर्ट जारी किया है, उसमें बताया गया है कि पूर्वोत्तर में यूनाइटेड नेशनल लिबरेशन फ्रंट के 10 कारिंदे ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए चुने गए हैं। नागालैंड तक विस्फोटक पहुंचाने के लिए आतंकियों ने चीन व म्यांमार से लगी सीमा का इस्तेमाल नवम्बर के अंतिम सप्ताह में ही किया था। खुफिया विभाग के लिए बड़ी चिंता की बात यह है कि एक ओर पूर्वोत्तर दहलाने के लिए चीन व म्यांमार बॉर्डर का इस्तेमाल किया जा रहा है। दूसरी ओर भारत को अस्थिर करने के लिए पाकिस्तान के आईएसआई एजेंट नेपाल में अपने समर्थकों के साथ कैंपेन में जुटे हैं। भारत-नेपाल सीमा के पास कुछ आतंकी पहले ही पहुंच चुके हैं जो वाया बिहार देश में फैलने की तैयारी में हैं। इसके अलावा पूर्वोत्तर में पिपुल्स लिबरेशन आर्मी के 15 उग्रवादी भी बड़ी घटना को अंजाम देने की ताक में हैं। खुफिया विभाग ने इन्हें टैरेट नदी के पास सक्रिय देखा है। विभाग ने बताया है कि आतंकी संगठन के तार सीधे पूर्वोत्तर के उग्रवादियों से जुड़ गए हैं। फिलहाल, ये चीन व म्यांमार सीमा पर सिआलप गांव, नागालैंड के मोन, असम के चराइडीओ व शिवसागर, मणिपुर के चुराचंदपुर कामजोंग, म्यांमार के सैगेंग क्षेत्र में सक्रिय हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Alert Threatened Threat to Indo-Nepal Border