Again in protest against the power crisis - बिजली संकट के विरोध में फिर बवाल, प्रदर्शन DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली संकट के विरोध में फिर बवाल, प्रदर्शन

बिजली संकट के विरोध में फिर बवाल, प्रदर्शन

जिले में जारी बिजली संकट के बीच रविवार को भी शहर से लेकर गांवों तक बवाल हुआ। ट्रिपिंग व लो-वोल्टेज की समस्या से परेशान लोगों ने भगवानपुर पावर सब स्टेशन में हंगामा किया। आक्रोशित लोग भगवानपुर पीएसएस में दूसरा पावर ट्रांसफॉर्मर लगाने की मांग कर रहे थे। करीब एक घंटे तक लोगों ने प्रदर्शन किया। अधिकारियों व कर्मचारियों के समझाने के बाद वहां से वापस हुए। लोगों का कहना था कि भगवानपुर पीएसएस में एक और पावर ट्रांसफॉर्मर लगाने की बात एस्सेल के अधिकारी कई दिनों से कर रहे हैं। लेकिन अभी तक उसे नहीं लगाया जिससे लो वाल्टेज की समस्या बनी रहती है।

शहरी क्षेत्र में चार से पांच घंटे तक बिजली गुल रह रही है। बिजली रहने पर भी कई इलाकों में लो व हाई वोल्टेज की समस्या बनी रहती है। रविवार को भी दिन में बिजली किल्लत से शहरवासियों को जूझना पड़ा। हालांकि, शाम होते-होते बिजली की स्थिति में सुधार हुआ। सुबह 33 केवी चंदवारा लाइन में फॉल्ट आने के कारण चंदवारा-मिस्कॉट पीएसएस से जुड़े चार दर्जन से अधिक मोहल्लों में करीब पांच घंटे बिजली ठप रही। इससे चंदवारा, जेल रोड, बनारस बैंक चौक, ब्राह्मणटोली, कालीबाड़ी रोड, बीएमपी छह, मालीघाट, अमर सिनेमा रोड, चकबासू, रमना, मिस्कॉट, मिठनपुरा, क्लब रोड, मदनानी लेन, पीएंडटी कॉलोनी, पुरानी बाजार नाका, मारवाड़ी स्कूल सहित अन्य मोहल्लों की 40 हजार से अधिक आबादी प्रभावित रही। एस्सेल के पीआरओ राजेश चौधरी ने बताया कि 33 केवी चंदवारा लाइन के चार इंसुलेटर खराब हो गए थे। चंदवारा-बेला लाइन एचटी तार टूटा था जिसे दुरुस्त किया गया। तेज हवा के कारण कुछ जगह लोकल फॉल्ट आया जिसे दुरुस्त कर बिजली चालू की गई।

बीएमपी छह, चंदवारा, मिठनपुरा के जगदीशपुरी लेन, ब्राह्मणटोली, भगवानपुर के अलकापुरी, गोबरसही-डुमरी रोड सहित कई अन्य इलाकों में लो वोल्टेज की भी समस्या रही। मिठनपुरा, दामोदरपुर, रामबाग, ओरियंट क्लब, चंदवारा, बैरिया सहित कई इलाकों में बिजली की आंखमिचौली जारी रही। सुबह से देर शाम तक ट्रीपिंग से सभी परेशान थे। बैरिया के कोल्हुआ में सुबह से ही दो फेज में बिजली नहीं रहने व एक फेज में हाई वोल्टेज बिजली से परेशानी हुई। हाई वोल्टेज के कारण कई इलेक्ट्रॉनिक सामान जले।

दामोदरपुर व मड़वन में सप्लाई शुरू: शनिवार को हंगामे के बाद दामोदरपुर में खराबी को दूर कर बिजली आपूर्ति चालू की गई। वहीं, मड़वन में भी रात दो बजे के करीब 11 हजार वोल्ट के तार को जोड़कर बिजली दी गई। ज्ञात हो कि दामोदरपुर में चारों दिनों से ट्रांसफॉर्मर जला पड़ा था जबकि मड़वन की पांच पंचायतों में 48 घंटे से आपूर्ति बाधित थी।

गर्मी से हो जा रहा फीडर ओवरलोड: बिजली नहीं रहने के बारे में जब लोग इसकी शिकायत करते हैं तो बताया जाता है कि फीडर ओवरलोड है। इस संबंध में जब एस्सेल के एरिया मैनेजर चितरंजन से बात की गई तो उन्होंने बताया कि गर्मी की वजह से फीडर ओवरलोड हो जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Again in protest against the power crisis