DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

611 टोलों में धन व बाहुबल के प्रयोग की आशंका

611 टोलों में धन व बाहुबल के प्रयोग की आशंका

लोकसभा चुनाव के दौरान जिले के 611 टोलों में धन व बाहुबल के प्रयोग की आशंका है। इन टोलों को निर्वाचन विभाग ने अति संवेदनशील टोले की श्रेणी में रखा है। अब इन टोलों के उन बूथों की पहचान होगी जिनपर धनबल व बाहुबल के प्रयोग की आशंका है। चुनाव आयोग को रविवार को होने वाली बैठक के बाद इसकी सूची भेजी जाएगी।

निर्वाचन विभाग द्वारा तैनात अधिकारियों व सहायक निर्वाचन पदाधिकारियों की रिपोर्ट के आधार पर 611 टोलों को अति संवेदनशील टोला माना गया है। इन टोलों में पिछले चुनावों में भी धनबल व बाहुबल का प्रयोग किया गया था। ऐसे टोले को एहतियातन पहले ही चिह्नित किया गया है, ताकि चुनाव के दौरान इन टोलों पर कड़ी नजर रखी जा सके। सहायक निर्वाचन पदाधिकारी सह बीडीओ की रिपोर्ट के आधार पर अब तक चिह्नित टोलों के बूथों की भी अलग से सूची बनायी जायेगी। इन बूथों की सूची पर रविवार को जिला निर्वाचन पदाधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में मुहर लगायी जाएगी। ऐसे टोलों व बूथों से जुड़े बाहुबलियों व असामाजिक तत्वों को धारा 107 व धारा 113 के तहत सूचीबद्ध कर नोटिस जारी की जाएगी।

यदि ऐसे इलाके में ऐसे तत्व पाये गए, जिनका चुनाव के दौरान इलाके में उपस्थित रहने से असर पर सकता है, तो ऐसे तत्वों को या तो चुनाव के दिन घर से न निकलने की नोटिस जारी की जा सकती है, या फिर उन्हें जिला बदर करने की कार्रवाई भी की जा सकती है।

कम मतदान वाले बूथों पर अभियान

पिछले चुनाव में कम मतदान प्रतिशत वाले बूथों की भी अलग से पहचान की जा रही है। चुनाव आयोग ने ऐसे बूथों की सूची बनाकर भेजने को कहा है। निर्देश दिया कि ऐसे बूथों पर वोटरों के मतदान के लिए आगे न आने के कारण का पता लगाएं। ऐसे बूथों वाले टोलों में मतदान के लिए विशेष जागरुकता अभियान चलाने के साथ वोटरों की सुरक्षा के विशेष प्रबंध किये जायेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:611 Tolls feared for use of money and muscle