300 people crossed the figure - 300 का आंकड़ा पार करते झूमने लगे समर्थक DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

300 का आंकड़ा पार करते झूमने लगे समर्थक

300 का आंकड़ा पार करते झूमने लगे समर्थक

शहर की सड़कों पर गुरुवार को सन्नाटा पसरा रहा है और घरों व दुकानों में मतगणना का रुझान देखने के लिए टीवी की जमघट लगी रही है। सुबह आठ बजे से लोग टीवी से चिपक गए। आज सुबह के चाय-नाश्ता से लेकर दोपहर का भोजन तक टीवी के सामने ही हुआ। एनडीए के पक्ष में आंकड़ों की उछाल से रोमांच बढ़ता गया। मिनट दर मिनट एनडीए की बढ़त वाली सीटों की संख्या बढ़ती चली गई।

‘भाजपा आगे का अंक 300 से आगे बढ़ते ही सबके चेहरे खिल उठे। रुझान देखकर उत्साही युवक दोपहर में जीत का जश्न मनाने लगे। शहर का कल्याणी चौक और पुरानी बाजार हो या शेरपुर गांव का नुनफर टोला, लड़कों की टोली पटाखे छोड़ती रही। सबने एक स्वर से कहा, यह लहर नहीं सुनामी है। जितने लोग, नरेन्द्र मोदी की जीत के उतने कारण!

माला पहनाकर मिठाई खिलाई : रमना मोहल्ला में देवी मंदिर के सामने एलआईसी कार्यालय का माहौल बदला दिखा। एक-दूसरे को माला पहनाकर मिठाई खिलाई। कभी अमेठी में राहुल से स्मृति ईरानी के आगे निकलने का रोमांच तो कभी जयाप्रदा के पिछड़ने की बेचैनी। इमलीचट्टी बस स्टैंड के निकट एक मॉल में और नीचे पार्किंग स्टैंड में टीवी स्क्रीन के सामने भीड़ लगी रही। आंकड़ों में उतार-चढ़ाव पर नजरें गड़ाए बैठे थे। इधर, मिठनपुरा के मॉल में आठ-दस लड़कों की टोली कार्ड बोर्ड का कमल लेकर स्केलेटर पर चढ़ती-उतरती रही। सब बारी-बारी से एक हाथ से कमल थामकर दूसरे से सेल्फी लेते रहे। उनका उत्साह देखते ही बन रहा था। कोर्ट कैंपस हो या माड़ीपुर का मेन रोड, सामान्य दिनों वाली भीड़ कहीं नजर नहीं आयी।

बारात है या जुलूस

शाम में मुशहरी के शेरपुर में बैंड की धुन पर थिरकते युवकों की टोली निकली तो ऐसा लगा कि गांव में बारात आयी है। पाकिस्तान को ललकारने वाले गानों पर झूमते युवक कभी पटाखे फोड़ते तो कभी भारत माता का जयघोष लगा रहे थे। जुलूस देखकर गदगद महिलाओं ने कहा- ‘हमरा सब के जिंदगी बदल गेल। गैस देलक, चूल्हा देलक, घर देलक आ बिजली-पानी देलक। कथी न देलक! फेर अतई आ बहुत कुछ देतई!

ऊपर वाला को देखकर वोट दिया

शहर में ऑटो चालक और यात्री भी चुनाव परिणाम के कारणों का विश्लेषण करते रहे। बैरिया में एक ऑटो चालक ने कहा, ऊपर वाला (नरेन्द्र मोदी) को देखकर वोट दिया हूं। हमलोग तो आज भी ऑटो चला रहे हैं, कल भी चलाएंगे। इन लोगों से (प्रत्याशियों से) कोई उम्मीद नहीं है। कंपनीबाग में मतगणना के रुझान से नाखुश एक चालक ने अपने चेहरे का भाव छिपाते हुए कहा, अभी मतगणना चल रही है। फाइनल रिजल्ट नहीं आया है। एक ने राहुल गांधी के अकेले पड़ने और कांग्रेस में स्टार प्रचारकों व नीतिकारों की कमी की चर्चा की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:300 people crossed the figure