DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बालश्रम से मुक्त बच्चों को मिल रहा 25 हजार का एफडी

बालश्रम से मुक्त बच्चों को मिल रहा 25 हजार का एफडी

पढ़ने-लिखने की उम्र में बच्चे आज भी बाल श्रम करने के लिए विवश हैं। घर की आर्थिक स्थिति नाजुक होने के कारण उनपर कम उम्र में ही घर की अर्थव्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी आ जाती है। ऐसे बच्चों को बाल श्रम से मुक्त करने के लिए श्रम विभाग ने पहल की। इससे ऐसे बच्चों का भविष्य संवारने में मदद मिल रही है। बाल श्रम से मुक्त बच्चों को पहले सिर्फ तीन हजार की राशि दी जाती थी। इतनी कम राशि मिलने से वे बच्चे फिर से बाल श्रम की बेड़ी में बंध जाते थे।

वर्ष 2016 में 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए 25 हजार रुपये एफडी का प्रावधान किया गया। इसका लाभ श्रम विभाग की ओर से जिले के करीब 25 बच्चों को पढ़ाई के लिए दिया गया है। श्रम अधीक्षक रणवीर रंजन ने बताया कि एफडी की राशि 18 साल की उम्र पूरी होने के बाद ही बच्चों को मिल सकेगी। इस राशि का ब्याज हर महीने बच्चों के खाते में चला जाता है। इससे उन्हें पठन-पाठन की सामग्री खरीदने में मदद मिल जाती है। पिछले एक साल में करीब 15 बच्चों को बाल श्रम से मुक्त कराया गया है। इनमें 14 वर्ष के कम बच्चों का एफडी किया गया है। बाल श्रम से मुक्त कराने के बाद बच्चों को तत्काल तीन हजार रुपये दिए जाते हैं। बच्चों को स्कूल से भी जोड़ने का लक्ष्य: बाल श्रम से मुक्त बच्चों को आवासीय विद्यालयों से जोड़ने का भी लक्ष्य रखा गया है। रणवीर रंजन बताते हैं कि जो बच्चे पढ़ाई करना चाहते हैं उनके लिए जमुई आवासीय विद्यालय में आवास व पढ़ाई की व्यवस्था है। अभी तक इस जिले में बाल श्रम से मुक्त एक भी बच्चे ने वहां पढ़ाई करने के लिए हामी नहीं भरी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:25 thousand FDs getting free from child labor