DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुआवजे के लिए 11 घंटे बवाल

मुआवजे के लिए 11 घंटे बवाल

सकरा थाने के एनुलहक चौक के पास सड़क दुर्घटना में मरे मछली विक्रेता नीरज कुमार सहनी का शव शुक्रवार देर रात सड़क पर रख 11 घंटे तक परिजनों व ग्रामीणों ने बवाल किया। इस दौरान परिजनों ने मुआवजे की मांग करते हुए सड़क पर अगजनी कर हंगामा व प्रदर्शन किया। इससे सबहा से जहांगीरपुर मुरौल तक दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। शनिवार सुबह नौ बजे सीओ की ओर से मुआवजा देने के आश्वासन पर लोगों ने जाम हटा लिया।

मालुम हो कि शुक्रवार रात सकरा बाजिद गांव के पास पिकअप की ठोकर से मछली विक्रेता नीरज कुमार सहनी की मौत हो गई थी। इसमें उसके पिता बुधन सहनी गंभीर रूप से जख्मी हो गये थे। घटना उस वक्त घटी जब दोनों सकरा हाट से पैदल अपने घर सकरा मंसूरपुर गांव की ओर जा रहे थे। सड़क दुर्घटना में मौत के बाद आक्रोशित लोगों ने शव को सड़क पर रखकर रात 10 बजे जाम कर दिया, जो शनिवार सुबह नौ बजे तक रहा।

मुखिया सतीश कुमार, पूर्व मुखिया मो. हैदर अली, राजद अध्यक्ष सकरा मो. नूर आलम, डॉ. राजेश राम आदि ने आक्रोशितों को काफी समझाने का प्रयास किया। बाद में सीओ पंकज कुमार व थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने नियमानुसार प्रक्रिया के बाद मृतक के परिजनों को चार लाख रुपये मुआवजा देने का आश्वासन दिया। इसके बाद लोगों ने जमा हटा लिया। उधर, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:11 hours Ruckus for compensation