DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  मुंगेर  ›  गंगा में बहकर आयी मिट्टी से लड़खड़ाई जलापूर्ति

मुंगेरगंगा में बहकर आयी मिट्टी से लड़खड़ाई जलापूर्ति

हिन्दुस्तान टीम,मुंगेरPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 05:20 AM
गंगा में बहकर आयी मिट्टी से लड़खड़ाई जलापूर्ति

मंुगेर | हिन्दुस्तान संवाददाता

गंगा में पानी बढ़ने के साथ शहर में जलापूर्ति व्यवस्था प्रभावित होने की संभावना प्रबल हो गई है। हालांकि निगम कर्मी इसे दूर करने में लगे हुए हैं पर जलस्तर बढ़ने की रफ्तार उन्हें भी परेशानी में डाल दे रहा है। गौरतलब है कि मुंगेर तथा जमालपुर में गंगा से ही जलापूर्ति की व्यवस्था है। इसके लिए निगम ने बबुआ घाट तथा कष्टहरणी घाट पर जलापूर्ति के लिए दो अलग अलग इंटेकवेल वोट लगा रखा है। उसी से दोनों जगह पाइप के माध्यम से जलापूर्ति होती है। पर पिछले एक सप्ताह से गंगा का जलस्तर काफी तेजी से बढ़ रहा है। जिससे निगम कर्मियों को प्रतिदिन अपने इंटेकवेल वोट को हटाना पड़ जा रहा है।

जिससे जलसंकट की समस्या उत्पन्न होना लाजिमी हो गया है। मिली जानकारी के अनुसार इससे जमालपुर की जलापूर्ति फिलहाल अधिक प्रभावित हुई है। गंगा के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी से निगम को जलापूर्ति व्यवस्था को सुचारू रखना बड़ी मुसीबत बन गयी है। बहाव के साथ गंगा की धारा में बड़ी मात्रा में मिट्टी कटकर आ रही है, इससे जलापूर्ति में भारी दिक्कत आ रही है। कष्टहरणी घाट तथा बबुआ घाट में जलापूर्ति के लिए इंटेकवेल वोट तक गंगा का पानी आ जाने से उसे आगे-पीछे हटाना पड़ रहा है। जिसमें घंटों का वक्त लग जा रहा है। जिससे जलापूर्ति में परेशानी आ रही है।

संबंधित खबरें