DA Image
12 अप्रैल, 2021|5:48|IST

अगली स्टोरी

सुरंग की गुणवत्ता की जांच को पहुंची विजिलेंस टीम

default image

जमालपुर | निज प्रतिनिधि

पूर्व रेलवे कोलकाता की महत्वकांक्षी योजनाओं में से एक मालदा मंडल अधीन जमालपुर की रेलवे दूसरी सुरंग निर्माण कार्य है। करीब 35 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन दूसरी सुरंग में कुछ न कुछ अड़चने आने से निर्माण कार्य पूर्ण होने में वक्त लग रहा है।

इसे किसी भी सूरत में बीते मार्च माह में ही कार्य को संपन्न करा लेना आदेश जारी किया गया था। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। जिस रफ्तार से निर्माण कार्य किया जा रहा है, इससे लगता है कि अभी इसे चालू होने में कम से कम तीन माह का और वक्त लग सकता है। बीते वर्ष दिसंबर माह में ही इंजीनियर और संवदेक ने पहाड़ का सीना चीड़कर सुरंग को आर-पार कर दिया था। एबीसीई सिलीगुड़ी की कंपनी के कर्मचारियों ने रेलवे दूसरी सुरंग को रिंगनुमा आकार देकर हार्स शू ढलाई कार्य में तेजी भी लायी थी। इधर, दूसरी सुरंग निर्माण कार्य में गुणवत्ता की परख को लेकर पूर्व रेलवे कोलकाता के वीजिलेंस टीम जमालपुर पहुंची, तथा सुरंग निर्माण का जांच सैंपल लिया। यहां करीब तीन दिनों तक जांच सैंपल का मिलान किया।

वीजिलेंस टीम ने करीब दो ढलाई सैंपल में त्रुटि पायी और क्यूब टेस्ट फेल कर दिया है। इससे कंपनी और संवेदकों में हड़कंप मच गया। तीसरे दिन पुन: इसमें सुधार का मौका दिया और क्यूब टेस्ट को पास कर टीम वापस हेडक्वार्टर लौट गयी। वीजिलेंस टीम में एवीओ, दो एसएसई और एक जेई अधिकारी शामिल थे। बता दें कि वर्ष 2019 के नवंबर में बरियाकोल सुरंग के सामांतर वाली दूसरी रेलवे की सुरंग खुदाई शुरू हुई थी।

कंपनी के कर्मचारी और इंजीनियर्स ने पांच-पांच मीटर की खुदाई कर रिंगनुमा ढलाई कार्य किया था। और बीते साल 2020 के दिसंबर माह में सुरंग आर-पार कर दिया गया। यह सुरंग मालदा मंडल में हाईटेक सुरंग है। इसकी जमालपुर से रतनपुर के बीच सुरंग की कुल लंबाई 903 फीट है, तो चौड़ाई तकरीबन 20 फीट की है। वैसे जमालपुर रतनपुर के बीच करीब पांच किलोमीटर की दूरी है। दूसरी सुंरग का निर्माण ऑस्ट्रेलिया तकनीक पर आधारित है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Vigilance team reached to check the quality of the tunnel