ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार मुंगेरट्रेन छूटी तो टिकट रिफंड नहीं होगा, रेलवे के टिकट रिफंड में नया अपडेट

ट्रेन छूटी तो टिकट रिफंड नहीं होगा, रेलवे के टिकट रिफंड में नया अपडेट

रहा है। वहीं नित्यदिन ट्रेनों में यात्रियों की ठसाठस भीड़ भी है। ऐसे में ट्रेन छूटी तो उनका टिकट रिफंड नहीं होगा। यह फरमान पूर्व रेलवे कोलकाता...

ट्रेन छूटी तो टिकट रिफंड नहीं होगा, रेलवे के टिकट रिफंड में नया अपडेट
हिन्दुस्तान टीम,मुंगेरMon, 04 Dec 2023 01:00 AM
ऐप पर पढ़ें

जमालपुर। इम्तेयाज आलम (निज प्रतिनिधि)
शादी-समारोह का सीजन चल रहा है। वहीं नित्यदिन ट्रेनों में यात्रियों की ठसाठस भीड़ भी है। ऐसे में ट्रेन छूटी तो उनका टिकट रिफंड नहीं होगा। यह फरमान पूर्व रेलवे कोलकाता प्रशासन की है। रेलवे ने टिकट रिफंड कराने को लेकर नया अपडेट जारी किया है। ताकि यात्रियों को टिकट किस स्थिति में रिफंड किया जाय, इससे अपडेट होना चाहिए। रेल प्रशासन का मानना है कि यात्री आमतौर पर अपनी यात्रा की योजना पहले से ही बना लेते हैं। और उसी के अनुसार ट्रेन में सीट बुक करते हैं। लेकिन समय के साथ इच्छुक यात्रियों को अक्सर अपनी यात्रा के कार्यक्रम में बदलाव करना पड़ता है या रद्द करना पड़ता है। इस कारण उन्हें टिकट के मूल्य का रिफंड पाने में काफी उलझनों का भी सामना करना पड़ता है। प्रचलित रिफंड नियम को यात्रियों की जानकारी के लिए एक बार फिर से दोहराया जा रहा है।

चार्ट तैयार होने से पहले कंफर्म टिकटों के लिए रिफंड की कुछ है शर्तें

यात्री सेवाओं को सुव्यवस्थित करने और स्पष्टता प्रदान करने के प्रयास में रेल प्रशासन अलर्ट है। रिजर्वेशन की चार्ट तैयार होने से पहले कन्फर्म टिकटों के लिए रिफंड नीतियों को व्यापक रूप से प्रसारित करने की भी आवश्यकता है। तत्काल प्रभाव से लागू अद्यतन नियम अपडेट किया गया है। इसमें यात्रा शुरू होने से 48 घंटे पहले रद्दीकरण में एसी फर्स्ट क्लास या एक्जीक्यूटिव क्लास: न्यूनतम फ्लैट रद्दीकरण शुल्क रुपये 240 प्लस जीएसटी काटने के बाद रिफंड, एसी 2-टियर या प्रथम श्रेणी में रुपये 200 प्लस जीएसटी, एसी 3-टियर, एसी चेयर कार, या एसी 3-इकोनॉमी में रुपये 80 प्लस जीएसटी, स्लीपर क्लास में रुपये 120 प्लस जीएसटी और द्वितीय श्रेणी में रुपये 60 प्लस जीएसटी राशि काटने का प्रावधान है। जबकि 48 घंटे से 12 घंटे के बीच रद्दीकरण में न्यूनतम फ्लैट रद्दीकरण शुल्क के अधीन, आधार किराए का 25 प्रतिशत काटने के बाद ही रिफंड राशि किया जाएगा। इसके अलावा 12 घंटे से 4 घंटे तक के बीच रद्दीकरण में न्यूनतम फ्लैट रद्दीकरण शुल्क के अधीन, आधार किराए का 50 प्रतिशत काटने के बाद रिफंड होगा।

सिर्फ 5 मिनट स्टॉपेज के कारण रोज छूटती है विक्रमशिला ट्रेन, यात्री हलकान

भागलपुर से आनंदविहार जाने वाले ट्रेन नंबर 12367 अप विक्रमशिला एक्सप्रेस का जमालपुर में मात्र पांच मिनट स्टॉपेज दिया गया है। ट्रेन दोपहर 1 बजकर 4 मिनट में आती है और 1 बजकर 9 मिनट पर खुलती है। हालांकि नित्यदिन ट्रेन का आगमन पांच मिनट विलंब से ही किया जा रहा है। स्टेशन में प्रवेश करते ही मात्र पांच मिनट ही स्टॉपेज दिया जाता है। ऐसे में ट्रेन की कोच-पायदान पर पहले से यात्रियों की भीड़ जमी रहती है। कोच में प्रवेश को लेकर रोज मारामारी की स्थिति बनी हुई है। इस दौरान नित्यदिन एक से तीन दर्जन यात्रियों की ट्रेन छूट जाती है। ट्रेन छूटी तो रिफंड मिलना मुश्किल है। ट्रेन नहीं चढ़ने वाले यात्रियों में पूजा कुमारी, श्यामा प्रसाद, विक्रम, तेज प्रताप, शशि और विकास ने बताया कि शादी सीजन में ट्रेन की स्टॉपेज पांच से दस मिनट कर दिया जाय। ताकि समय पर लोग ट्रेन पर पकड़ सके।

क्या कहते हैं अधिकारी

ट्रेन छूटने के बाद यात्रियों को कोई रिफंड नहीं किया जाएगा। यात्रियों को इन अद्यतन नियमों से अवगत होनी चाहिए। अपने रद्दीकरण की योजना बनाने में नियम और घंटों की जानकारी लें। रिफंड संरचना का उद्देश्य रेल सेवाओं की स्थिरता सुनिश्चित करना है। वहीं प्लेटफार्म पर भीड़ अधिक हो तो चालक व गार्ड साहब एक दो मिनट की छूट दें ताकि यात्री चढ़ सके।

कौशिक मित्रा, सीपीआरओ, पूर्वी रेलवे

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें