DA Image
17 फरवरी, 2020|3:30|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साइलेंट मॉक ड्रिल से घंटेभर मची स्टेशन पर अफरातफरी

साइलेंट मॉक ड्रिल से घंटेभर मची स्टेशन पर अफरातफरी

रेलवे बोर्ड, नई दिल्ली के आदेश पर प्रत्येक माह की तरह शनिवार को मॉडल स्टेशन जमालपुर पर साइलेंट मॉक ड्रिल का प्रदर्शन किया गया। करीब 10 बजे स्टेशन जमालपुर प्रशासन ने साइलेंट मॉक ड्रिल का प्रदर्शन किया।

साइलेंट मॉक ड्रिल की सूचना मिलते ही स्टेशन पर करीब सावा घंटे तक अफरातफरी मची रही। चंद मिनटों में ही अधिकारी से लेकर कर्मचारी स्टेशन पहुंच गये तथा एक्सीडेंट रिलिफ ट्रेन, एक्सीडेंट रिलिफ मेडिकल एक्यूपमेंट और एक्सीडेंट रिलिफ मेडीकल ऑजलेरी जैसी भान को तैयार किया गया। रेल अधिकारियों व डॉक्टरों ने साइलेंट मॉक ड्रिल का डेमोस्ट्रेशन में कार्यशैली को टाइम टू टाइम रिपोर्ट तैयार की। वहीं कर्मचारियों ने टेंट लगाकार मेडिकल एक्यूप्मेंट, ऑपरेशन थियेटर आदि का भी प्रदर्शन किया। बता देंं कि मॉक ड्रिल कराने के पहले पगली घंटी बजायी जाती है। इससे यह स्पष्ट होता है कि इस रेलखंड में कहीं न कहीं कोई गाड़ी बेपटरी होकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई है। वहीं साइलेंट मॉक ड्रिल में सिर्फ ऑन टाइम दूरभाष पर अधिकारियों व स्टेशन के विभागीय कर्मचारियों को सूचना दी जाती है कि साइलेंट मॉक ड्रिल हो रही है। इसलिए एक्सीडेंट रिलिफ ट्रेन, एक्सीडेंट रिलिफ मेडिकल एक्यूपमेंट और एक्सीडेंट रिलिफ मेडिकल ऑजलेरी जैसी भान स्थल पहुंचकर कमान संभाले। साइलेंट मॉक ड्रिल का नेतृत्व पूर्व रेलवे मुख्य अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक हिमांशु मंडल ने किया। मौके पर डॉ. जेके प्रसाद, डॉ. एके चौरसिया, डॉ. डी. सरकार, डॉ. एके साहु, डॉ. सौरभ सावन ने डोमेस्ट्रेशन के दौरान घायल (काल्पनिक) यात्री का प्राथमिक उपचार किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Silent mock drill caused hours of panic at the station