DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › मुंगेर › कड़ाके की ठंड में धरना पर बैठे है सेवानिवृत्त कर्मचारी
मुंगेर

कड़ाके की ठंड में धरना पर बैठे है सेवानिवृत्त कर्मचारी

हिन्दुस्तान टीम,मुंगेरPublished By: Newswrap
Tue, 26 Jan 2021 03:25 AM

कड़ाके की ठंड में धरना पर बैठे है सेवानिवृत्त कर्मचारी

मुंगेर | हिन्दुस्तान संवाददाता

बकाए सेवांत लाभ के भुगतान सहित अन्य मांगों को लेकर नगर निगम के सेवानिवृत्त कर्मियों का अनिश्तिकालीन धरना सोमवार को सातवें दिन भी जारी रहा। भीषण ठंड में दर्जन भर से अधिक सेवानिवृत्त कर्मी नगर निगम कार्यालय के बाहर खुले आकाश में पिछले 19 जनवरी से धरना पर बैठे हुए हैं।

कड़ाके की ठंड में इन सेवानिवृत्त कर्मियों की हालत बिगड़ने लगी है। अब तक दो कर्मी की हालत बिगड़ चुकी है। वाबजूद दोनों सदर अस्पताल से इलाज करवाकर फिर से धरना स्थल पर डटे हुए हैं। रविवार को भी देर रात ठंड के कारण निगम के एक सेवानिवृत्त कर्मी की हालत ठंड से अचानक बिगड़ गई। जिसे साथ बैठे अन्य सेवानिवृत्त कर्मियों ने इलाज के लिए सदर अस्पताल ले गए। वहां से इलाज कराने के बाद फिर से वे आकर धरना स्थल पर ही बैठ गए। इधर मांगों को लेकर निगम प्रशासन की उदासीनता और अबतक जिला प्रशासन द्वारा उनकी सुध नहीं लिए जाने से धरना पर बैठे सेवानिवृत कर्मी काफी नाराज हैं। सेवानिवृत कर्मियो ंने बताया कि अबतक जिला और निगम प्रशासन ने उनलोगों के लिए अलाव तक की व्यवस्था भी नहीं की है।

नगर निगम सेवानिवृत कर्मचारी संघ एवं कस्तुरवा वाटर वर्क्स यूनियन के अध्यक्ष ब्रह्मदेव मंडल ने बताया कि निगम प्रशासन वर्षो से उनलोगों के साथ छलावा कर रही है। जिसके कारण बाध्य हो उनलोगों को इस भीषण ठंड में आंदोलन को उतरना पड़ा है। उन्होंने बताया कि बिहार सरकार ने पेंशन तथा सेवांत लाभ एवं अंतर वेतनमान की राशि का आबंटन बहुत पहले कर चुकी है। बावजूद अभी तक उनलोगों को सेवांत लाभ का भुगतान नहीं किया गया है। जबकि सेवांत लाभ नहीं मिल पाने के कारण अबतक 48 सेवानिवृत कर्मियों की मौत दवा और खाने के अभाव में हो चुकी है। धरना पर बैठे सेवानिवृत कर्मियों की हालत ठंड से बिगड़ती जा रही है, वाबजूद प्रशासन उनके लिए अलाव तक की व्यवस्था भी नहीं की है।

उन्होंने बताया कि जबतक निगम प्रशासन उनकी मांगों को पूरा नहीं करता है, उनका आंदोलन जारी रहेगा। अनशन स्थल पर दिवाकर राउत, शीला देवी, सुदीन राउत, कमल राउत, राजू राउत, कुंती देवी, गोपाल राउत, दैवा देवी, लल्लू देवी ने निगम प्रशासन की उदासीनता और अबतक जिला प्रशासन द्वारा उनलोगों का सुध नहीं लिए जाने को लेकर नाराजगी जतायी है।

संबंधित खबरें