ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार मुंगेरचिकित्सकों की कमी से जूझ रहा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र

चिकित्सकों की कमी से जूझ रहा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र

स्वास्थ्य केंद्र गंगटा, राजारानी तालाब आदि केंद्र की स्वास्थ्य सेवा प्रभावित हो रही है। चिकित्सकों के अलावा एएनएम, फार्मासिस्ट समेत चतुर्थ वर्गीय...

चिकित्सकों की कमी से जूझ रहा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र
हिन्दुस्तान टीम,मुंगेरWed, 29 Nov 2023 12:45 AM
ऐप पर पढ़ें

टेटियाबंबर,एक संवाददाता। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र टेटियाबंबर में ग्रामीण क्षेत्र के मरीजों की अच्छी खासी भीड़ लगती है। लेकिन उनके इलाज के लिए मात्र एक चिकित्सक हैं जो यहां के चिकित्सा प्रभारी हैं। जबकि चिकित्सकों के चार पद स्वीकृत है। एक चिकित्सक की प्रतिनियुक्ति स्वास्थ्य केंद्र असरगंज कर दी गई है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 24 घंटे स्वास्थ्य सेवा को लेकर इसके अधीन पड़ने वाले अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्रों के चिकित्सकों को यहां ही ड्यूटी पर लगाया जा रहा है। जिस कारण अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र गंगटा, राजारानी तालाब आदि केंद्र की स्वास्थ्य सेवा प्रभावित हो रही है। चिकित्सकों के अलावा एएनएम, फार्मासिस्ट समेत चतुर्थ वर्गीय कर्मचारियों के भी कई पद रिक्त है। एक्स-रे टेक्नीशियन का पद भी रिक्त है। जिसके कारण एक्स-रे की सुविधा वर्तमान समय में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में नहीं है। प्रखंड के करीब 50 हजार की आबादी के बीच प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में महिला चिकित्सक, डेंटल चिकित्सक आदि की मांग भी लोगों द्वारा लंबे समय से की जा रही है। लेकिन विभाग की उदासीनता के कारण पूरा नहीं हो पाया है। यहां ओपीडी में 200 से अधिक मरीज प्रतिदिन आते हैं। जिनका इलाज किया जा रहा है। इस केंद्र पर 26 तरह के जांच की सुविधा है। ओपीडी के लिए कुल 190 दवाइयों में 131 व आईपीडी में 93 दवाओं में 71 दवा उपलब्ध है।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में मौजूद है एक एंबुलेंस : प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में मात्र एक एंबुलेंस है। जिस कारण गंभीर रोगियों को रेफर होने पर हायर सेंटर ले जाने एवं गांव से गंभीर मरीजों को लाने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। वर्तमान में भवन की कमी है, लेकिन नए भवन का निर्माण चल रहा है।

क्या कहते हैं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी

चिकित्सक एवं स्वास्थ्य कर्मियों की कमी के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ता हे। चिकित्सकों की कमी व अन्य समस्याओं को लेकर जिला मुख्यालय को अवगत कराया जा चुका है। जल्द ही समस्याओं का समाधान होने की उम्मीद है।

- डॉ. अंसार अहमद, पीएचसी प्रभारी, टेटियाबंबर।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें