DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांवरियों के लिए लगाए स्वास्थ्य शिविर में नहीं दिखे एक भी डॉक्टर

कांवरियों के लिए लगाए स्वास्थ्य शिविर में नहीं दिखे एक भी डॉक्टर

कांवरियों के लिए बनाए गए अस्थाई स्वास्थ्य केन्द्र छत्रहार मोड़ के पास खोले गये स्वास्थ्य शिविर में रविवार को डॉक्टर नहीं दिखे। कांवरियों का इलाज एएनएम कर रहीं थीं।

अनुमंडल अस्पताल के प्रभारी उपाधीक्षक बीएन सिंह ने बताया कि डॉक्टर के आते ही शिविर भेजा जाएगा। शिविर में पानी की व्यवस्था नहीं थी। शिविर में दो पंखा लगाया गया है, जिसमें एक पंखा खराब था। इसी शिविर में पुलिस कैंप भी है। पुलिस के जवान तो थे लेकिन दंडाधिकारी नहीं थे। श्रावणी मेला की ड्यूटी में लापरवाही बरतने पर कार्यपालक दंडाधिकारी सुशीला कुमारी को महंगा पड़ गया। लगातार दो दिनों से वे नियंत्रण कक्ष से गायब थीं। उनके विरुद्ध मेला की निगरानी का अनुश्रवण कर रहे लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी डॉ. आशीष बरियार ने जिलाधिकारी को अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए अनुशंसा की है। डॉ. बरियार ने कहा कि श्रावणी मेला की व्यवस्था में प्रशासनिक एवं पुलिस पदाधिकारियों के बीच निचले स्तर तक तालमेल में कमी दिख रही है। इससे व्यवस्था में कमी आ रही है। इस कमी को दूर करने के लिए सोमवार को अनुमंडल कार्यालय सभा कक्ष में प्रशासनिक अधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों की विशेष बैठक बुलायी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:One doctor not seen in health camp