NH 333 have become pit - एनएच 333 पर बन गए हैं गड्ढे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनएच 333 पर बन गए हैं गड्ढे

जिले की ग्रामीण सड़कों की बात तो दूर, एनएच 333 भी गड्ढे में तब्दील हो गयी है। हालांकि एनएच पर बने जानलेवा गड्ढे की प्रमुख वजह ग्रामीण एरिया से निकलने वाले पानी को बताया जा रहे हैं।

एनएच 80 के पटना-साहेबगंज मुख्य मार्ग पर स्थित 141 किलोमीटर लंबी यह एनएच बरियारपुर से खड़गपुर-गंगटा से जमुई जिले के चकाई के माधवपुर-बिशनपुर स्थित झारखंड की ओर से आने वाली एनएच 333 में मिलती है।

इसके बाद भी सड़कों का बुरा हाल है। मुंगेर जिले के अधीन पढ़ने वाले एनएच 333 की 36 किलोमीटर लंबी सड़क में कई जगहों पर बड़े और छोटे गड्ढे हो गए हैं। लेकिन विभाग की उदासीनता के कारण सड़क के गड्ढों को नहीं भरा जा रहा है। लिहाजा आम राहगीरों को काफी मुसीबतें हो रही हैं। इतना ही नहीं बड़े-बड़े गड्ढे होने के कारण कई दुर्घटनाएं भी हो रही हैं।

नेशनल हाईवे के मानक पर नहीं बनी है यह सड़क: जिले के अधीन पढ़ने वाली 36 किलोमीटर सड़क में से 36 किलोमीटर सड़क का निर्माण पथ निर्माण विभाग ने किया गया था। इसके बाद स्टेट हाईवे को नेशनल हाईवे ने वर्ष 2013 में अधिग्रहित कर लिया। नेशनल हाईवे द्वारा इसे अधिग्रहण किए 05 वर्ष से अधिक का समय बीत गये हैं। लेकिन उनके द्वारा नेशनल हाईवे के मानक पर सड़क का निर्माण नहीं कराया गया है।

पथ निर्माण विभाग ने 07 मीटर चौड़ी सड़क का निर्माण कराया था। नेशनल हाईवे अगर सड़क का निर्माण कराएगी, तो सड़क की चौड़ाई 10 मीटर होगी।

सड़क निर्माण के लिए भेजा गया है भारत सरकार को प्रस्ताव : नेशनल हाईवे अथॉरिटी के द्वारा जमुई जिले के अधीन पढ़ने वाले एनएच 333 की सड़कों का निर्माण कराया जा रहा है। लेकिन मुंगेर जिले के अधीन पढ़ने वाली बरियारपुर से गंगटा की सड़कों के निर्माण के लिए वार्षिक प्लान में प्रपोजल विभाग को भेजा है। बरियारपुर से गंगटा के 28 किलोमीटर सड़क निर्माण के लिए वार्षिक प्लान में प्रस्ताव भारत सरकार को भेज दिया गया है। भारत सरकार से प्रस्ताव पर मुहर लगते ही सड़क को 10 मीटर चौड़ी कर, इसे नए सिरे से निर्माण कराया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NH 333 have become pit