DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › मुंगेर › सामुदायिक शौचालय निर्माण में बरती जा रही अनियमितता
मुंगेर

सामुदायिक शौचालय निर्माण में बरती जा रही अनियमितता

हिन्दुस्तान टीम,मुंगेरPublished By: Newswrap
Sun, 01 Aug 2021 04:30 AM
सामुदायिक शौचालय निर्माण में बरती जा रही अनियमितता

बरियारपुर | निज संवाददाता

सामुदायिक शौचालय निर्माण कार्य में सरकारी आदेशों को ताक पर रखकर योजना का स्टीमेट सरकार के निर्देश के विरुद्ध अधिक राशि का बनाया जा

रहा है।

जिसको लेकर बरियारपुर प्रखंड में 15वीं वित्त की राशि से बन रहे समुदायिक शौचालय निर्माण कार्य की जांच कराने की मांग अब उठने लगी है। विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं का कहना है कि यह तो स्टीमेट घोटाला है।

क्या है सामुदायिक शौचालय निर्माण की योजना: बिहार सरकार के पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव तथा ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव ने आदेश जारी किया है कि 15वीं वित्त योजना की चिन्हित राशि (टाईड फण्ड) से समुदायिक स्वच्छता परिसर (सामुदायिक शौचालय) का निर्माण किया जायेगा। इस योजना का अधिकतम प्राक्कलित राशि 3 लाख रुपये होगा। जिसमें 2 लाख 10 हजार रुपये निर्माण कार्य तथा 90 हजार रुपये स्वच्छता परिसर के रख-रखाव पर खर्च करना है।

इस कार्य योजना के तहत मॉडल स्टीमेट में एक चापानल भी है। लेकिन इन निर्देशों का अवहेलना कर 3 लाख की जगह 4 लाख 57 हजार तक का स्टीमेट बना दिया गया है।

शुक्रवार को हुई योजना की जियो टैगिंग: बताया जाता है कि ज्यों ही मीडिया के नजर में एनएच 80 के किनारे बनाये जा रहे सामुदायिक शौचालय पर पड़ी तो आनन-फानन में एक कनीय अभियंता ने उस योजना का जियो टैगिंग किया। सूत्रों ने बताया कि उक्त योजना का स्थल भी गलत है। बरियारपुर उत्तरी पंचायत के वार्ड 7 में कार्य होना था, लेकिन नियमों को ताक पर रखकर वार्ड 9 में एनएच 80 किनारे कार्य किया जा रहा है।

शनिवार को इस सामुदायिक शौचालय के छत की ढलाई का कार्य चल

रहा था।

संबंधित खबरें