DA Image
26 जनवरी, 2020|11:36|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एफएसएल की टीम ने लिया फिंगरप्रिंट

default image

जिले के पूरबसराय ओपी क्षेत्र स्थित पुलिस लाइन के एटीएम में लूटपाट की घटना के बाद गुरुवार को एफएसएल की दो सदस्यीय टीम जांच के लिए घटनास्थल पर पहुंची। इस दौरान एफएसएल की टीम ने एटीएम मशीन और एटीएम गेट से फिंगरप्रिंट को उठाया। एफएसएल की टीम में फिंगरप्रिंट के एक्सपर्ट जोगिंदर कुमार और फोटो ब्यूरो के एक्सपर्ट दिनेश कुमार सिंह शामिल थे।

फिंगरप्रिंट एक्सपर्ट ने एटीएम मशीन और गेट पर अपराधियों के फिंगरप्रिंट को मार्कर से गोलाई करने के बाद लेंस से जांच की गई। वही फोटो ब्यूरो एक्सपर्ट ने फिंगरप्रिंट की तस्वीरें लीं। फोटो लिया जा रहा था। एसबीआई के मेन ब्रांच के उप शाखा प्रबंधक प्रकाश कुमार के आवेदन पर पूरबसराय ओपी में प्राथमिकी दर्ज की गई है। लेकिन घटना के 36 घंटा बीत जाने के बाद भी पुलिस अपराधियों को नहीं पकड़ सकी है।

एटीएम के सीसीटीवी में नहीं है अपराधियों का कोई सुराग : बैंक के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस लाइन में लगे एसबीआई के एटीएम में अपराधियों का कोई सुराग नहीं मिला है। इसी कारण अपराधियों तक पहुंच पाना पुलिस के लिए कोई चुनौती से कम नहीं है। मंगलवार की रात्रि 11:13 में अपराधी एटीएम लूटने के उद्देश्य एटीएम के अंदर प्रवेश किया था। इसके बाद अपराधी एटीएम के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरे और एटीएम को छतिग्रस्त कर दिया। इसी कारण एटीएम के अंदर लगे सीसीटीवी और एटीएम में लगे सीसीटीवी में अपराधियों का कोई सुराग नहीं है।

रात्रि 9:52 में हुआ था अंतिम बार ट्रांजेक्शन : बैंक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस लाइन के एटीएम में मंगलवार की रात्रि 09:52 में अंतिम बार 05 हजार रुपये का ट्रांजेक्शन करने का रिकॉर्ड दर्ज है। वहीं अपराधी 11:13 बजे एटीएम के अंदर घुसकर एटीएम में लगे सीसीटीवी को क्षतिग्रस्त कर दिया। बैंक के एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि एटीएम मशीन में लगा कैमरा 24 घंटे काम नहीं करता है। एटीएम मशीन में लगा कैमरा सीमित ही काम करता है। लेकिन अपराधी के द्वारा एटीएम को क्षतिग्रस्त करने के कारण एटीएम मशीन सुपरवाइजर मोड में चला गया। इसी कारण एटीएम का मशीन काम करना बंद कर दिया था।