DA Image
23 जनवरी, 2020|8:29|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सदर अस्पताल में अग्निशमन का डेमो

default image

जानकारी व जागरूकता से ही आग से बचाव संभव है। सार्वजनिक जगहों पर कार्य करने वाले कर्मियों व अधिकारियों को आग से बचाव संबंधी जानकारी रखनी चाहिए। जानकारी रख वे स्वयं व दूसरों की मदद कर सकते हैं। यह बातें बुधवार को सदर अस्पताल परिसर में अग्निशमन विभाग द्वारा आयोजित जागरूकता कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला अग्निशमन अधिकारी सत्येंद्र प्रसाद ने कही।

उन्होंने कहा कि अग्निशमन यंत्र को संचालित करने के बारे में सभी को जानना चाहिए। उन्होंने मरीजों, कर्मियों व चिकित्सकों को आग लगने की स्थिति में किए जाने वाले प्रारंभिक प्रयास के बारे में जानकारी दी। अग्निशमन कर्मियों ने गैस सिलेंडर व शार्ट सर्किट से आग लगने की वजह से उत्पन्न होने वाली मुश्किलों पर निजात पाने के बारे में उपस्थित लोगों को प्रत्यक्ष रूप से किए जाने वाले प्रयासों को दिखाकर जागरूक करने का कार्य किया। अग्निशमन कर्मियों ने जानकारी देने के उपरांत कुछ चिकित्सा कर्मियों से अग्निशमन यंत्र को चलवाकर भी देखा।

अग्निशमन कर्मियों द्वारा प्रयोगात्मक तरीके से आग लगाकर उस पर विभिन्न माध्यमों से काबू करने का प्रशिक्षण दिया गया। इसमें एलपीजी सिलेंडर, बिजली उपकरण, तेल, कागज, कपड़े इत्यादि से लगने वाले आग तथा उनपर कैसे काबू पाया जाए तथा किन-किन महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखा जाए यह विस्तारपूर्वक बताया गया। बताया कि आग के चार प्रकार हैं। चार प्रकार के आगों की प्रकृति और उसके बुझाने के तरीके और उपकरण अलग-अलग हैं। मौके पर सहायक अग्निशामक पदाधिकारी मुखिया राम, अग्निक विनोद मंडल, सुनील कुमार, प्रभारी अस्पताल उपाधीक्षक डॉ निरंजन कुमार, अस्पताल प्रबंधक मो. तौसिफ हसनैन सहित अन्य मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Fire fighting demo at Sadar Hospital