DA Image
31 मार्च, 2021|1:01|IST

अगली स्टोरी

भागवत कथा के चौथे दिन श्री कृष्ण जन्मोत्सव मना

default image

असरगंज | निज संवाददाता

असरगंज के विक्रमपुर दुर्गा स्थान प्रांगण में चल रहे संगीतमय श्री भागवत सप्ताह ज्ञान में कथा के चौथे दिन भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव उत्साह पूर्वक धूमधाम से मनाया गया।

श्री कृष्ण जन्म प्रसंग के अवतार पर बालकृष्ण को सिर पर टोकरी में रखकर ले जाते हुए ,वासुदेव जी तथा नंद बाबा यशोदा मैया के हाथों से कन्हैया को पालने में झूलाने की झांकी को देखकर सभी श्रद्धालु आनंद विभोर हो गए। भागवत कथा प्रवक्ता स्वामी सुबोधानंद जी महाराज ने कहा कि वैदिक सत्य सनातन धर्म के प्रवर्तक एवं रक्षक स्वयं भगवान नारायण हैं। दुष्ट जनों के संघार एवं सज्जनों की रक्षा करते हुए सनातन धर्म की स्थापना हेतु भगवान समय-समय पर अवतरित होते हैं। द्वापर युग के अंत में भारतवर्ष की पावन धरती पर मथुरा में कंस के कारागार में वसुदेव एवं देवकी के गर्भ से प्रकट हुए थे। उनका अद्भुत बाल स्वरूप कृत कुंडल, कौसतुम मणी, पीतांबर धारी भगवान विष्णु के चारों हाथों में शंख ,चक्र, गदा, पद्म सुशोभित थे। देवकी और वसुदेव दोनों ने भगवान की स्तुति की। स्वामी सुबोधानंद जी ने कहा कि देवकी जी शुद्ध ,बुद्धि तथा वसुदेव जी शुद्ध हृदय के प्रतीक हैं। पवित्र अंत:क्रम मैं ही भगवान प्रकट होते हैं। इस मौके पर नंद के आनंद में जय कन्हैया लाल की चलो देख आएं नंद घर लाल हुआ आदि भजनों की प्रस्तुति की गई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Celebrating Shri Krishna 39 s Birthday on the fourth day of Bhagwat Katha