DA Image
23 नवंबर, 2020|3:17|IST

अगली स्टोरी

सीमा विवाद के कारण नहीं होता केस दर्ज

default image

मुंगेर और जमुई जिले के सीमा क्षेत्रों पर अवस्थित गंगटा जंगल में आए दिन लोग लुटते रहते हैं और पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं करने के कारण लुटेरों का मनोबल बढ़ता जा रहा है।

2015 में प्रमंडलीय आयुक्त के द्वारा सीमांकन करने के बावजूद दोनों जिला की पुलिस के बीच सीमा विवाद होने के कारण गंगटा और लक्ष्मीपुर थाना में पीड़ित की प्राथमिकी दर्ज नहीं हो पाती है। इस कारण अपराधियों की पहचान नहीं हो पाती है और ना ही पुलिस के द्वारा कोई कार्रवाई की जाती है। इस वर्ष नवंबर 2020 में गंगटा जंगल में अपराधियों के द्वारा दो बड़ी लूट की घटना को अंजाम दिया गया है। लेकिन दोनों में से किसी भी मामले में लक्ष्मीपुर या गंगटा थाना में प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई। जबकि लूट की घटना के शिकार व्यक्ति बताते हैं कि लक्ष्मीपुर और गंगटा थाना जाने पर दोनों एक दूसरे का क्षेत्र बताकर प्राथमिकी दर्ज करने के लिए आवेदन नहीं लेते हैं। लेकिन पुलिस कहती है कि घटना को लेकर कोई आवेदन उनके पास आया ही नहीं है। जिस कारण प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई। इसका एक उदाहरण रविवार को भी देखने को मिला। जब अपराधियों ने गंगटा जंगल में लूट की घटना को अंजाम देने के बाद चाकू से हमला कर यात्रियों को जख्मी कर दिया। इस मामले में भी दोनों में से किसी थानों में प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Case not registered due to boundary dispute