DA Image
23 नवंबर, 2020|3:16|IST

अगली स्टोरी

हड़ताल सफल बनाने को चला जागरूकता अभियान

default image

केन्द्र सरकार की मजदूर विरोधी नीति एवं निजीकरण के विरोध में ट्रेड यूनियनों के आह्वान पर 26 नवंबर को देशव्यापी हड़ताल को सफल बनाने की तैयारी शुरू कर दी गयी है।

रविवार को बिहार-झारखंड मेडिकल और सेल्स रिप्रेजेन्टेटिब्स यूनियन ने हड़ताल को सफल बनाने के लिए पोस्टर बैनर के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाया। हड़ताल में बैंकों के शामिल होने से लगभग 150 करोड़ के वित्तीय कार्य प्रभावित होने का अनुमान है। बिहार-झारखंड मेडिकल और सेल्स रिप्रेजेन्टेटिब्स यूनियन के अध्यक्ष बीपी राय ने बताया कि हड़ताल में रेल, बीमा, बैंक(एसबीआई को छोड़कर) के अलावा किसान-मजदूर के अलग-अलग ट्रेड यूनियन रहेंगे। उन्होंने बताया कि टे्रड यूनियनों एवं स्वतंत्र फेडरेशन ने 2 अक्टूबर की बैठक में 26 नवंबर को किसान-मजदूर विरोधी नीतियों के विरोध में एक दिवसीय देशव्यापी हड़ताल का निर्णय लिया था।

उन्होंने बताया कि विक्रय प्रतिनिधियों का कानून जो 1976 में एसपीई एक्ट के रूप में लंबे संघर्ष के बाद हासिल हुआ था उसे भी निरस्त कर दिया गया। हमारी मांगों में किसान-मजदूर विरोधी बिल वापस लेने, सरकारी कंपनियों एवं प्रतिष्ठनों रेलवे आदि के निजीकरण पर रोक, समय पूर्व रिटाटयरमेंट वाले विज्ञप्ति वापस लेने आदि मांगे हैं। जागरूकता अभियान में अध्यक्ष बीपी राय, उपाध्यक्ष अमित नंदन, सचिव पुष्पेन्द्र कुमार सिंह, दीपक कुमार, मुकेश मिश्रा, दिलीप कुमार दास आदि थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Awareness campaign to make strike successful