DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › मुंगेर › मुख्य पार्षद को हटाने को लेकर आवेदन
मुंगेर

मुख्य पार्षद को हटाने को लेकर आवेदन

हिन्दुस्तान टीम,मुंगेरPublished By: Newswrap
Fri, 30 Jul 2021 04:22 AM

मुख्य पार्षद को हटाने को लेकर आवेदन

हवेली खड़गपुर | एक संवाददाता

उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी के द्वारा नगर परिषद क्षेत्र में विभिन्न योजनाओं के शिलान्यास के दूसरे दिन 11 वार्ड पार्षदों ने मुख्य पार्षद के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने को आवेदन दिया। मुख्य पार्षद को कुर्सी से हटाने के लिए 11 वार्ड पार्षद लगातार कागजी प्रक्रिया और नियमावली का हवाला देकर अविश्वास प्रस्ताव की तिथि घोषित करवाने की कवायद में भिड़े हैं। मुख्य पार्षद के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव पर हस्ताक्षर करनेवाले 11 विक्षुब्ध पार्षदों में उषा देवी, दीपा केसरी, हेमलता केसरी, बतुलन बीबी, निर्मला देवी, उमेश मंडल, गैबी मांझी, अमित कुमार सिंह, राजो देवी, सुनीता देवी और शंभू केसरी हैं। इन सभी ने गुरुवार को कार्यपालक पदाधिकारी को नगर पालिका अधिनियम का हवाला देते हुए आवेदन दिया है। जिसमें बताया गया है कि नगर पालिका अधिनियम 1994 की धारा 34 में अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष को किसी भी समय बहुमत से हटाया जा सकता है। वहीं नगर पालिका अधिनियम 2007 की धारा 25 के उपधारा 4 के अंतर्गत सिर्फ दो बार अविश्वास प्रस्ताव लाने के समय सीमा निर्धारित की गई है। पहला अविश्वास प्रस्ताव दो वर्ष के अंदर नही लाया जा सकता है। दूसरा अविश्वास प्रस्ताव एक वर्ष के बाद लाया जा सकता है। शेष छह माह की अवधि के बीच अविश्वास प्रस्ताव नही लाया जा सकता है। वार्ड पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव को लेकर बताया कि नगर परिषद हवेली खड़गपुर में अविश्वास प्रस्ताव लाने का यह पहला मौका नहीं है। इसके पूर्व भी मुख्य पार्षद एवं उप मुख्य पार्षद के विरुद्ध दो बार अविश्वास प्रस्ताव को लेकर मतदान कराया गया है। जिसमे पहली बार 9 जुलाई 2019 को तात्कालीन मुख्य पार्षद दीपा केशरी एवं उप मुख्य पार्षद शंभू केशरी के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था। जिसमें दोनों अपनी कुर्सी बचाने में कामयाब रहे थे।

संबंधित खबरें