DA Image
1 जुलाई, 2020|6:40|IST

अगली स्टोरी

जिले में 61 डॉक्टर कार्यरत, 77 पद रिक्त

default image

जिले के लोगों के इलाज के लिए डॉक्टरों की कमी है। डॉक्टर की कमी के कारण स्वास्थ्य सेवा पर बुरा असर पड़ रहा है। इसका नुकसान सबसे अधिक गरीब वर्ग के लोगों को हो रहा है। उन्हें इलाज के लिए पैसे खर्च करने पड़ रहे हैं।

चिकित्सक को लोग धरती का भगवान मानते हैं। किंतु मुंगेर के लिए यह दुर्भाग्य की बात है कि यहां जितने चिकित्सकों की आवश्यकता है उसके आधे से भी अधिक चिकित्सक का पद वर्षो से रिक्त पड़ा हुआ है। जिले में कुल 138 चिकित्सकों का पद स्वीकृत हैं। यह स्वीकृति दो दशक से भी पूर्व की है। उस वक्त जिले की आबादी पांच से सात लाख के आसपास थी। किंतु वर्तमान समय में जिले की आबादी लगभग 17 लाख है। बावजूद वर्तमान समय में मुंगेर जिले में मात्र 61 चिकित्सक ही पदस्थापित हैं। ऐसे में समझा जा सकता है कि जहां 138 से भी अधिक चिकित्सकों की आवश्यकता है। वहां मात्र 61 चिकित्सक किस प्रकार से स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध करा रहे होंगे। वहीं इस कोरोना काल में कई चिकित्सकों को कोविड-19 की ड्यूटी में लगा दिया गया है। जिसके कारण इमरजेंसी व आउटडोर सेवा काफी प्रभावित हो रही है। ऐसे में जब तक स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में पर्याप्त संख्या में चिकित्सकों की व्यवस्था नहीं की जाती है। तब तक यहां के आम जनों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध होना काफी मुश्किल है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:61 doctors employed in the district 77 posts vacant