जिला परिषद को पांच करोड़ से अधिक की आय

वर्तमान जिला परिषद बोर्ड के निर्वाचन के प्रथम वर्ष 2016 से लगातार तीसरे वर्ष तक आय के रूप में करीब 5.38 करोड़ रुपये प्राप्त हुए हैं। वहीं जिला परिषद परिसंपत्तियों से पूर्व में प्रति माह 3.43 लाख की आय को बढ़ाकर प्रतिमाह 10.44 लाख कर दिया गया है। उक्त जानकारी जिला परिषद अध्यक्ष प्रियंका जायसवाल ने शनिवार को आयोजित जिला परिषद की सामान्य बैठक में अपने अध्यक्षीय संबोधन के दौरान दी। उन्होंने कहा कि जिला परिषद कीआय में लगातार वृद्धि हुई है।

सभी प्रखंडों में एक-एक चलंत टॉयलेट कराये जाएंगे उपलब्ध : बैठक में प्राप्त आय से वित्तीय वर्ष 2019-20 में सड़क किनारे शौच से मुक्ति के अभियान के क्रम में शादी-विवाह अथवा सार्वजनिक कार्यक्रम के दौरान सुविधा के लिए सभी प्रखंडों में दस सीट का एक-एक चलंत टॉयलेट उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में सार्वजनिक स्थलों पर 3 हजार एलईडी लाइट लगाया जाएगा।

सभी प्रखंडों में महिला फुटबॉल व क्रिकेट मैच होंगे आयोजित : जिप अध्यक्ष ने बताया कि सभी प्रखंडों में महिला फुटबॉल मैच व क्रिकेट मैच आयोजित किये जायेंगे।

वहीं, जिले के 57 जिला पार्षद क्षेत्र में एक-एक मुफ्त चिकित्सा शिविर का आयोजन होगा। उन्होंने कहा कि जिला परिषद के कैथी में लिखी गयी संपत्ति को हिन्दी में लिखवा कर जिला परिषद की करोड़ों की जमीन की खोज की गयी।

योजनाओं में अनियमितता का उठा मामला : बैठक की शुरुआती दौड़ में कई सदस्यों ने आंगनबाड़ी सहायिका व सेविका की बहाली में हो रही अनियमितता, इंदिरा आवास योजना व जलापूर्ति योजना में गड़बड़ी को लेकर पदाधिकारियों पर आक्रोश दिखाया व ऐसे अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की। जिप अध्यक्ष ने मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी को निर्देश दिया कि सदस्यों की शिकायत पर कार्रवाई करें। आश्वासन पर सदस्य शान्त हुए। बैठक का संचालन मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी अखिलेश कुमार ने की। बैठक में जिप उपाध्यक्ष कमलेश्वर प्रसाद सिंह, कविता सिंह सहित सभी जिला पार्षद, प्रखंड प्रमुख, सहित सभी विभाग के अधिकारी थे।

READ SOURCE