DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

युवा पीढ़ी शॉर्टकट का रास्ता छोड़े: हर्षित

युवा पीढ़ी शॉर्टकट का रास्ता छोड़े: हर्षित

कोचिंग जाने और कड़ी मेहनत करने से ही सफलता नहीं मिलती। इसके लिए योजनाबद्ध तरीके से पढ़ना जरूरी है, तभी लक्ष्य प्राप्त कर सकते हंै। यूपीएससी की परीक्षा में दूसरे प्रयास में सफलता पा चकिया व जिले का नाम रौशन करने वाले हर्षित तोदी ने कहा कि कामयाबी के लिए कड़ी मेहनत के साथ-अन्य बातों पर भी ध्यान देना जरूरी है। उन्होंने युवा पीढ़ी को कहा कि कामयाब होना है तो शार्टकट का रास्ता छोड़ना होगा, अन्यथा पछताना होगा। जिले के छोटे से शहर में साधारण व्यवसायी परिवार मेंं जन्मे 22 वर्षीय हर्षित ने साबित कर दिया कि छोटे शहर और संसाधन की कमी के बावजूद अगर आपके पास दृढ संकल्प हैं, तो कामयाब होने से कोई रोक नही सकता। व्यवसायी पिता संजय तोदी व गृहिणी माता शोभा देवी की तीन संतानों में बड़ा पुत्र हर्षित, छोटा हिमांशु और एक बहन है। पिता संजय तोदी ने बताया कि हर्षित ने इससे पूर्व आई आईआईटी में सफलता हासिल की। वहीं, अभी पहले की सफलता के आधार पर दल्लिी में एसीपी की ट्रेनिंग कर रहा था। इन सब के बीच उसने दूसरी बार में सफलता हासिल कर अपने लक्ष्य को प्राप्त कर लिया। बेटी भी कोलकाता में रहकर सीए की तैयारी कर रही है। इधर, चकियावासी भी अपने होनहार की सफलता पर गर्व महसूस कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Young generation avoid way of shortcut: Hershit