ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार मोतिहारीगुरहनवा स्टेशन पर शौचालय और चापाकल की व्यवस्था नहीं

गुरहनवा स्टेशन पर शौचालय और चापाकल की व्यवस्था नहीं

सिकरहना, निज संवाददाता। भारत नेपाल सीमावर्ती क्षेत्र के रक्सौल सीतामढ़ी रेलखंड का एक ऐसा...

गुरहनवा स्टेशन पर शौचालय और चापाकल की व्यवस्था नहीं
हिन्दुस्तान टीम,मोतिहारीMon, 20 May 2024 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

सिकरहना, निज संवाददाता। भारत नेपाल सीमावर्ती क्षेत्र के रक्सौल सीतामढ़ी रेलखंड का एक ऐसा रेलवे फ्लैग (स्टेशन), जहां यात्रियों के लिए कोई मूलभूत सुविधाएं नहीं है। यह है सिकरहना अनुमंडल अंतर्गत गुरहनवा रेलवे स्टेशन, जो भारत नेपाल सीमा से सटे महज दो किलोमीटर की दूरी पर अवस्थित है। यहां न तो शौचालय की व्यवस्था है और न हीं चापाकल की। रोशनी के अभाव में यात्रियों को प्लेटफार्म पर अंधेरे में रात गुजारना पड़ता है। शौचालय नहीं होने से महिला यात्रियों को काफी परेशानी होती है। यात्री शेड नहीं होने से बरसात व धूप में यात्रियों को खूले आसमान के नीचे बैठना पड़ता है। स्टेशन का भवन भी जर्जर हो चुका है। भवन के उपर लगाये गये एस्बेस्टस भी कई जगहों पर टूट गया है। इससे बरसात के दिनों में यात्री प्रतीक्षालय में पानी गिरता रहता है। प्लेटफार्म से यह भवन नीचे भी हो गया है। रेलवे विभाग द्वारा यात्रियों को जो मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराया जाना है वह भी यात्रियों को नहीं मिल पाता है। यहां मूलभूत समस्याओं के समाधान को लेकर डीआरएम द्वारा दिये गये निर्देश के बाद भी अबतक कोई कार्रवाई शुरू नहीं हो पायी है। भारत नेपाल सीमा से सटे होने के कारण यहां नेपाल के भी यात्री सफर करने के लिए ट्रेन पकड़ने आते है।

कार्य निरीक्षक, रक्सौल ने बताया कि जो भी समस्याएं है। उसके लिए प्रस्ताव भेजा गया था। जिसकी स्वीकृति वरीय अधिकारियों द्वारा मिल चुकी है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।