DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  मोतिहारी  ›  कोलकता से गिरफ्तार राहुल को लेकर पुलिस टीम मोतिहारी पहुंची

मोतिहारीकोलकता से गिरफ्तार राहुल को लेकर पुलिस टीम मोतिहारी पहुंची

हिन्दुस्तान टीम,मोतिहारीPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:20 AM
कोलकता से गिरफ्तार राहुल को लेकर पुलिस टीम मोतिहारी पहुंची

मोतिहारी हिन्दुस्तान प्रतिनिधि

कोलकता से गिरफ्तार बदमाश राहुल सहनी को पुलिस मोतिहारी ले आयी। रंगदारी मांगने के बाद वह कोलकता में जाकर मछली का व्यवसाय शुरू कर दिया था। वहां से भी कांफ्रेस कर रंगदारी की मांग करता था। अपराधिक घटनाओं को अंजाम देने के बाद वह कोलकता में ही शरण लेता था। एसपी नवीन चन्द्र झा के मॉनिटरिंग में चल रहे इस खेल में पुलिस ने जिले के विभिन्न थानों से उसके छह शार्गिदों को दबोच लिया है। हरसिद्धि, कोटवा, पीपराकोठी व मुफस्सिल के इलाके से उसके शार्गिद पकड़े गए है। उसका गिरोह व्यवसायियों में दहशत के साथ पुलिस की नींद उड़ा दी थी। पुलिस का कहना है कि हत्या, लूट, रंगदारी से लेकर मादक पदार्थो की तस्करी व नशीली दवा का भी कारोबार करता है। उसका एक नेटवर्क है जिसको पुलिस ध्वस्त करने में जुटी है। उसका नेपाल से भी कई बदमाशों से सम्पर्क है। वहां के भी कुछ व्यवसायियों से रंगदारी का पैसा वसूल करता है। पुलिस ने उसके पास से उस पिस्टल को बरामद किया है जिससे कपड़ा व्यवसायी को गोली मारी थी। वहीं कारतूस व मादक पदार्थ भी मिले हैं। रंगदारी मांगने में उपयोग किये जाने वाला सेलफोन व सिम भी मिला है। पीपराकोठी थाना क्षेत्र के हथियाही चकरधे गांव का रहने वाला है। अपना एक संगठित गिरोह बनाकर रंगदारी वसूलने का धंधा शुरू कर दिया था। मुफस्सिल एसएचओ रोहित व तकनीकी शाखा के प्रभारी मनीष कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम कोलकता गयी थी।

पैकेज

बहूभोज से लौटने के दौरान सोनू को राहुल ने ही गोली मारी थी

मोतिहारी हि.प्र.

पीपराकोठी के चकरधे गांव में बहूभोज शामिल होकर लौटने के क्रम में बाइक सवार तीन अपराधियों ने सोनू कुमार की गोली मार हत्या की थी। अपराधियों ने सात राउंड फायरिंग की जिसमें युवक को पांच गोली लगी थी। मृतक सोनू के चचेरे भाई जयराम प्रसाद ने पीपराकोठी थाने में चार शातिर अपराधियों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करायी थी। जिसमें देकहां फकीरा टोला के हीरालाल साह, हथियाही के धर्मेंद्र सहनी व राहुल सहनी को आरोपित किया गया है। साजिश के तहत सोनू को भोज पर बुलाया गया। भोज खाने के बाद जब सोनू वापस घर के लिए निकला तो अपराधियों ने रास्ते में घेरकर बाइक की चाभी छीन गोली मार दी।

पांच वर्ष पूर्व से ही अपराधिक घटनाओं को देता रहा है अंजाम

मोतिहारी हिन्दुस्तान प्रतिनिधि

कोलकता से गिरफ्तार राहुल सहनी पांच वर्ष पूर्व से ही अपराधिक घटनाओं को अंजाम देता रहा है। पकड़ीदयाल के प्रेमचन्द्र कुशवाहा को गोली मारने में वह शूटर की भूमिका निभायी थी। शराब के धंधे से शुरूआत करने के बाद अपराधिक घटनाओं को अंजाम देने लगा। दक्षिणी ढेकहां को वह अपना अपराधिक ठिकाना बना चुका है। पुलिस अभी उसकी क्राइम हिस्ट्री खंगाल ही रही है। 25 सितंबर 19 को किशुनपुर के अशोक पासवान की हत्या का प्रयास विफल होने पर उसकी बाइक में आग लगाकर जला दी गयी। युवक घायल अवस्था में भाग कर जान बचाई। मुफसिल के सोनू की हत्या 18 जुलाई 2020 को कर दी गई। जिसमें अपराधी राहुल सहनी व धर्मेन्द्र चौधरी शामिल था। हत्या की घटना के बाद पुलिस ने टिकुलिया गांव में छापेमारी मधुछपरा के सुभाष सहनी को पकड़ा । वही धर्मेंद्र चौधरी फरार हो गया। शराब, चोरी, लूट, रंगदारी व हत्या मामले में कई बार राहुल जेल जा चुका है। वर्ष 2018 में पकड़ीदयाल के प्रेमचंद्र कुशवाहा हत्या कांड में शामिल रहा है। जिसमें सजा काट चुका है। 22 जनवरी 20 को आपराधिक घटना को अंजाम देने जाने के क्रम में पिस्टल के साथ पीपरा पुलिस के हत्थे चढ़ा था। जिसमें पांच माह के बाद जमानत पर बाहर बाहर निकला है। वहीं 29 जुलाई 18 को चक्रधेय के जितेंद्र प्रसाद चौरसिया से रंगदारी मांगी। जिसमें पीपराकोठी थाने में एफआईआर दर्ज की गयी थी। 18 फरवरी 19 को चोरी मामले में गिरफ्तार हुआ था। जेल से छूटने के बाद 01 अप्रैल 20 को देकहां में मूत्र पिलाने के मामले में हुई हिंसक झड़प, पत्थरबाजी व फायरिंग मामले में भी वह नामजद रहा है।

हाल में रंगदारी व गोलीबारी कर मचा दिया था आतंक

मोतिहारी हिन्दुस्तान प्रतिनिधि

मुफस्सिल के ढेकहा में बदमाशों में पहले पर्चा फेंक रंगदारी मांगी। उसके बाद सेलफोन पर धमकी के साथ रंगदारी मांगी।15 दिसम्बर 2020 को मुफस्सिल थाने के ढेकहां गांव के निवासी राजु कुमार से सेलफोन पर दस लाख रुपये रंगदारी मांगी गयी। 29 दिसम्बर 2020 मुफस्सिल थाने के बतरौलिया गांव के दवा दुकानदार गुड्डु कुमार की दुकान पर पर्चा चिपकाकर दस लाख रुपये रंगदारी मांगी गयी थी। 05 जनवरी को मुफस्सिल थाने के सिरसा गांव के निवासी आलोक सिंह की दुकान पर पर्चा चिपकाकर दस लाख रुपये रंगदारी मांगी गयी थी। 27 मई को ईंट भट्ठा व्यवसायी पारस प्रसाद से पांच लाख रंगदारी मांगी गयी। 28 मई को मुफस्सिल ढेकहां के स्वर्ण व्यवसायी देव नारायण साह से दस लाख रुपये रंगदारी मांगी गयी। 29 मई को नगर के तेलिया पट्टी के विनोद कुमार से पांच लाख रंगदारी मांगी गयी है। 23 नवम्बर 2020 को मुफस्सिल थाने के उतरी ढेकहा पंचायत के पैक्स अध्यक्ष सह ईंट भट्ठा संचालक उमेश प्रसाद कुशवाहा को गोली मारी। 26 मई की सुबह छह बजे ढेकहा बाजार के निवासी कपड़ा व्यवसायी राकेश महतो को बदमाशों ने गोली मार जख्मी कर दिया था।

संबंधित खबरें