DA Image
28 नवंबर, 2020|11:12|IST

अगली स्टोरी

संवेदनशील बूथों पर कराएं गश्ती:डीएम

संवेदनशील बूथों पर कराएं गश्ती:डीएम

निर्वाची पदाधिकारी एक मास्टर प्लान तैयार कर लेंगे। साथ ही कम्युनिकेशन प्लान सेक्टर मजिस्ट्रेट व पीठासीन पदाधिकारी को आवश्यक रूप से उपलब्ध करा देंगे। नियंत्रण कक्ष पूर्व से ही कार्यरत रहेगा । सीपीएमएफ से एरिया डोमिनेशन का कार्य आवश्यक रूप से लें । संवेदनशील बूथों पर उसकी गश्ती कराएं।

यह निर्देश जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने शनिवार को आरओ व पीठीसीन पदाधिकारियों की बैठक में दिया। उन्होंने कहा कि मतदान के बाद सभी पीसीसीपी को अपने क्षेत्र से निकलने के बाद निर्वाची पदाधिकारी अपने अपने रिसेप्शन सेंटर पर पहुंच जाएंगे। उन्होंने निर्वाची पदाधिकारी को निर्देश दिया कि बीएलओ के माध्यम से पर्ची का तुरंत वितरण सुनिश्चित करें । सभी बीएलओ से सर्टिफिकेट ले लें। निर्वाचन का कार्य शांतिपूर्वक करें । निर्वाची पदाधिकारी सक्रिय होकर अपने-अपने कंट्रोल रूम से पोलिंग स्टेशन का जायजा लेते रहेंगे। कहीं से भी इवीएम संबंधी किसी भी गड़बड़ी की सूचना मिलने पर क्यूआरटी टीम का इस्तेमाल करते हुए सेक्टर और भेल के इंजीनियर और मास्टर ट्रेनर को इस्तेमाल करेंगे । मेडिकल टीम सभी बूथों पर रहेगी और मतदाताओं की स्क्रीनिंग करेगी। विसवार 10 माइक्रो ऑब्जर्वर रिजर्व में रहेंगे । इसे डिप्टी इलेक्शन ऑफिसर सुनिश्चित करेंगे। सभी निर्वाचित पदाधिकारी सेक्टर के साथ मास्टर ट्रेनर को टैग कर देंगे और हर सेक्टर के साथ जितने पोलिंग स्टेशन टैग हैं उस पर सेक्टर मजिस्ट्रेट निगरानी करते रहेंगे ।