DA Image
31 मार्च, 2020|4:33|IST

अगली स्टोरी

देश के हित में है सीएए का विरोध

default image

नागरिकता संशोधन अधिनियम, एनआरसी व एनपीआर के विरोध में विगत दो सप्ताह से जारी धरना स्थल पर रविवार को संत रविदास जयंती समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में कांग्रेस, राजद, सीपीआई, वीआईपी सहित अन्य पार्टी के नेताओं ने संत रविदास के तैल चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। मौके पर उपस्थित धरनार्थी को संबोधित करते हुए हरसिद्धि विधायक राजेन्द्र राम ने कहा कि कुछ लोग धर्म के आधार पर राजनीति कर यहां की एकता को तोड़ना चाहते हैं । एनआरसी और सीएए को काला कानून बताते हुए श्री राम ने कहा कि आज बेरोजगार और किसान आत्महत्या कर रहे हैं। देश कठिनाई के दौर से गुजर रहा है। लेकिन सरकार समस्याओं का समाधान ढ़ूंढ़ने के बजाए उन्हें उलझाए रखना चाहती है। वहीं नरकटिया विधायक डॉ. शमीम अहमद ने एनआरसी और सीएए को गरीबों के अधिकारों पर आघात बताया। वहीं पूर्व विधायक त्रिवेणी तिवारी ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के सहारे केंद्र अपना एजेंडा थोपना चाहती है। उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून का विरोध देश के हित में है और यह होना चाहिए। मौके पर पूर्व विधायक रामाश्रय सिंह, राजद नेता ओमप्रकाश चौधरी, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष शैलेन्द्र शुक्ला, सीपीआई के शंभू शरण सिंह, जिप सदस्य राम प्रवेश यादव, पूर्व जिप सदस्य कृष्णकांत मिश्रा, सीपीआई नेता शम्भू शरण सिंह, विष्णु देव यादव, हरिश्चंद्र चौधरी, राजद के बजरंगी नारायण ठाकुर, रामप्रवेश यादव, खुर्शीद आलम, ई. एहतेशाम अहमद, पप्पू कुमार सहनी, पूर्व प्रचार्य प्रो. विजय शंकर पांडेय, वीआईपी के जिलाध्यक्ष मोतीलाल सहनी, कांग्रेस नेता बिट्टू यादव, रविन्द्र प्रताप सिंह, मुमताज अहमद, सतेंद्र तिवारी, विजय शंकर सिंह, अरुण यादव, राघव साह, अवधेश कुमार सिंह, मदन मोहन यादव, कवि अकमल बलरामपुरी आदि ने धरना को संबोधित किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Opposition of CAA is in the interest of the country