Nutritional diet scam prohibits grant of TB patients - पौष्टिक आहार घोटाले से टीबी के मरीजों के अनुदान राशि पर लगी रोक DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पौष्टिक आहार घोटाले से टीबी के मरीजों के अनुदान राशि पर लगी रोक

default image

टीबी के मरीजों को पौष्टिक आहार के लिए दिये जा रहे पांच सौ की राशि में बड़े पैमाने पर हुए घोटला को लेकर केन्द्र सरकार इसकी जांच राज्य स्तर पर कर रही है। इस जांच के दौरान टीबी के मरीजों को मिलने वाली राशि पर तत्काल रोक लगा दी गयी है। पूर्वी चम्पारण में करीब 57 सौ मरीजों को यह लाभ मिलता था। जो अभी नहीं मिल रहा है। यहां की भी जांच हो रही है। यूपी में हुआ घोटला : प्राप्त जानकारी के अनुसार केन्द्र सरकार ने टीबी की बीमारी के उन्मूलन के लिए हर स्तर पर तैयारी कर रखा है। एक ओर जहां दवा का भंडारण कर रखा है। वही टीबी के मरीज को दवा के साथ- साथ पौष्टिक आहार के लिए प्रति माह पांच सौ रुपये देता है। यह रुपये मरीज के द्वारा दिये गये बैंक खाता में भेजा जाता है। मगर यूपी के कुछ जिला में जांच के दौरान पाया गया कि टीबी के मरीज को मिलने वाली राशि मरीज के खाता में नहीं भेज कर दूसरे के खाता में भेज राशि का उठाव कर लिया गया है। जिसको लेकर केन्द्र सरकार ने हरेक राज्य के जिलों में इसकी जांच करने व जांच तक इस राशि के भुगतान पर भी रोक लगा दिया गया है।

पूर्वी चम्पारण की भी हो रही है जांच : इस जांच से पूर्वी चम्पारण भी गुजर रहा है। इस जिले में भी करीब 57 सौ टीबी के मरीज को राशि दिया जा रहा था। इसका भी विभागीय ऑडिट चल रहा है। ऑडिट होने के वाद मरीजों के खाता में राशि भेजने का काम शुरु कि या जायेगा। बताते हैं इस घोटला से बचने के लिए विभाग एक नयी तकनीक का सॉफ्टवेयर लगाने जा रही है। जिससे मरीज के ही खाता में राशि जायेगा। किसी प्रकार का खाता कोई गड़बड़ी करने पर सॉफ्टवेयर नहीं लेगा।

कहते हैं अधिकारी: जिला यक्ष्मा पदाधिकारी डा. रंजीत राय बताते हैं कि घोटाले की जानकारी नहीं है। इतना जानकारी है कि मरीज के खाते में राशि भेजने की नयी तकनीक लागू किया जा रहा है। जिसके चलते मरीज के राशि भुगतान पर रोक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Nutritional diet scam prohibits grant of TB patients