DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  मोतिहारी  ›  मोतिहारी: पिछली बाढ़ में ध्वस्त रिंग बाध जस के तस
मोतिहारी

मोतिहारी: पिछली बाढ़ में ध्वस्त रिंग बाध जस के तस

हिन्दुस्तान टीम,मोतिहारीPublished By: Newswrap
Mon, 31 May 2021 04:01 AM
मोतिहारी: पिछली बाढ़ में ध्वस्त रिंग बाध जस के तस

मोतिहारी। हिन्दुस्तान संवाददाता

जिले में लगातार हो रही बारिश से बाढ़ का खतरा बढ़ सकता है। चार दिनों से रूक रूककर हो रही बारिश से सूखी सिकरहना नदी में अचानक पानी भरने से जलस्तर बढ़ने व घटने का सिलसिला शुरू हो गया है। हालांकि फिलहाल बाढ़ जैसी कोई स्थिति नहीं आयी है। लेकिन जर्जर तटबंधों की मरम्मत नहीं कराये जाने पर लोगों में फिर बाढ़ की चिंता सताने लगी है। अभी भी कई जगह कुछ बांध ऐसी है जहां पिछले साल की बाढ़ में ध्वस्त होने के बावजूद वह जस की तस है। इसका जीता जागता उदाहरण सुगौली प्रखंड का रिंग बांध है। जो पिछले साल के कई जगह ध्वस्त हो गया था। जिससे आसपास के क्षेत्र में भारी तबाही हुई थी। इसके बाद भी अभी तक उन बांधों की मरम्मत तक नहीं करायी गयी है।

चार दिनों में रिकॉर्ड 141.28 वर्षापात

पिछले चार दिनों से लगातार रूक रुककर बारिश हो रही है। 27 मई को जिले में औसत 9.45 मिली मीटर वर्षापात रिकॉर्ड किया गया। वहीं 28 मई को जिले में औसत 63.61 मिमी वर्षापात रिकॉर्ड किया गया। 29 मई को औसत 50.58 मिमी वर्षापात रिकॉर्ड किया गया है। 30 मई को भी जिले में 17.64 मिमी बारिश हुई है। सिर्फ चार दिनों में औसत 141.28 मिमी बारिश हुई है। जबकि इस माह में वास्तिवक औसत वर्षापात 255.97 की तुलना में 421.21 मिमी अधिक औसत वर्षापात रिकॉर्ड किया गया है।

सुगौली में कई जगह ध्वस्त हुआ था सिकरहना रिंग बांध

सुगौली अंचल के कैथवलिया गांव के पास पिछले साल सिकरहना रिंग बांध बाढ़ से ध्वस्त हो गया था। जिससे हजारों की आबादी प्रभावित हुई थी। इसके अलावा घुमनी टोला व सुगौली बंजरिया के कचहरिया टोला के पास बांध ध्वस्त हो गया था। जिससे आसपास के क्षेत्र में बाढ़ ने बड़ी मचायी थी।

चम्पारण तटबंध पर भी कई जगह नहीं हुई है मरम्मत

गंडक नदी के चम्पारण तटबंध पर संग्रामपुर के निहालु टोला के पास पिछले साल तटबंध ध्वस्त हो गया था। जिससे जानमाल की भारी तबाही हुई थी। इस साल तटबंध का मरम्मत कार्य पूरा कर लिया गया है। लेकिन अभी भी गोविन्दगंज क्षेत्र की तरफ मननपुर, नवादा, चौबे टोला ,सरेया, नगदाहां रिंग बांध सहित अन्य जगह मरम्मत कार्य शुरू नहीं हुआ है। जिससे उस क्षेत्र के लोगों में भी पिछले साल आयी बाढ़ की आक्रमकता को देखते हुए खौफ व्याप्त है।

कहते हैं कार्यपालक अभियंता

सिकरहना तटबंध प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता ई दिनेश कुमार सिंह यादव ने बताया कि सुगौली क्षेत्र में जो तटबंध हैं उनके विभाग के अंतर्गत नहीं आता है। उनके विभाग के अंतर्गत जो तटबंध है,सभी जगह बाढ़ सुरक्षात्मक कार्य को लेकर तैयारी चल रही है।

संबंधित खबरें