DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नये नियम से भारतीय व्यापारी परेशान

default image

नेपाल में भारतीय नंबर के वाहनों का एक वर्ष में मात्र 30दिन से अधिक प्रवेश पर पाबंदी से सीमावर्ती क्षेत्र के लोगों के लिए परेशानी बढ़ गयी है। व्यापार पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। इसके साथ साथ नेपाल के पुलिस प्रशासन द्वारा भारतीय नंबर प्लेट के वाहन चालकों के साथ किए जा रहे दुर्व्यवहार से लोगों में नाराजगी पल रही है।

हाल ही में नेपाल सरकार द्वारा भारत नेपाल सीमा पर डिजिटल एंट्री और सीमा शुल्क सेवा प्रारंभ करने और उसका सख्ती से पालन करने से अब भारतीय नंबर प्लेट के वाहनों से नेपाल जाने वाले लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उक्त नियम के मुताबिक एक ही भारतीय नंबर का वाहन एक वर्ष मे मात्र तीस बार ही नेपाल में प्रवेश कर पाएगा। उसके बाद प्रवेश को अवैध माना जायेगा। लोकल स्तर पर वीरगंज कलैया सहित नेपाल के सीमावर्ती बाजार. बसपार्क, अस्पताल आदि क्षेत्रों मे निशुल्क एंट्री कराकर जाने का प्रावधान है। जिसकी अवधि मात्र आठ घंटा ही है। इससे अधिक देर तक पाये जाने पर जुर्माने का प्रावधान है। उक्त जानकारी देते हुए पर्सा जिला के डीएम नारायण भट्टराई ने बताया कि भारतीय नंबर के वाहनों ने कस्टम शुल्क दिया है एंट्री कराई है या नहीं इसे जांच करने और जुर्माना करने का अधिकार कस्टम का है। चैम्बर औफ कॉमर्स के महासचिव माधव नेपाल ने इस नियम से भारत-नेपाल के बीच आयात निर्यात जैसे दो पक्षीय व्यापार प्रभावित होगा। उन्होंने कहा कि इस नियमावली मे संशोधन के लिए भारत नेपाल सरकार के अधिकारियों की संयुक्त बैठक में इस मुद्दे को रखेंगे।

हालांकि अभी इस नियम को लागू हुए लगभग एक माह ही हुआ है और वीरगंज बोर्डर पर डिजिटल एंट्री शुरू नहीं हुई है। जिस कारण इस नियम से व्यापार प्रभावित होने का आकलन नहीं हो पाया है। डिजिटल सेवा शुरू होने पर प्रभावित होगा व्यापार। विगत एक माह मे लगभग दो सौ भारतीय नंबर के वाहनों को नेपाली कस्टम द्वारा नियम के विरुद्ध पाये जाने पर नियंत्रण में लेकर जुर्माना और जब्त किए जाने का आरोप लोग ने लगाया है। एम्बुलेस चालक तुमडिया टोला रक्सौल निवासी सरोज अंसारी एवं एजाजुल अंसारी ने बताया कि एंट्री के चक्कर में कलैया का एक रोगी एम्बुलेस में ही मर गया। एम्बुलेन्स का एक रोज इन्ट्री नहीं रहने पर जब्त कर लिया गया। जबकि भारत नेपाल व्यापार संधि में एम्बुलेस की इन्ट्री फ्री करने का उल्लेख है। बावजूद संधि का उल्लंघन कर एम्बुलेंस के लिए भी एंट्री अनिवार्य कर दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Indian businessman upset by new rules