DA Image
27 सितम्बर, 2020|2:46|IST

अगली स्टोरी

टेंडर में देरी पर घिरा अस्पताल प्रशासन

default image

स्वास्थ्य विभाग के आरडीडी ने सदर अस्पताल के साफ सफाई की व्यवस्था से लेकर चिकित्सीय व्यवस्था का मुआयना किया। जांच के क्रम में साफ सफाई और भुगतान की जानकारी ली। स्वास्थ्य विभाग की तीन सदस्यीय टीम अपर निदेशक उमेश्वर प्रसाद के नेतृत्व में सदर अस्पताल पहुंची। अस्पताल के निरीक्षण के दौरान यहां में लगी गंदगी पर नराजगी जतायी। इसको लेकर सदर अस्पताल प्रबंधक, सीएस सहित डीपीएम से भी पूछताछ की। उन्होंने बताया कि साफ सफाई की समय सीमा समाप्त थी, फिर भी टेंडर की प्रक्रिया में काफी लेट किया गया है। जो जांच का विषय है। उन्होंने बताया कि इसकी रिपोर्ट वे विधानसभा की करेंगे। इस मौके पर सीएस ने उन्हें बताया कि टेंडर की प्रक्रिया 10 रोज में समाप्त कर नया टेंडर होने जा रहा है। अभी वे हाल में ही सीएस का प्रभार लिये हंै। प्रभार लेते ही टेंडर करा रहे हैं।

बताते हैं कि सदर अस्पताल में कार्यरत सभी एनजीओ का एग्रीमेन्ट मार्च में समाप्त हो गया है। फिर भी टेंडर न करके इसी एनजीओ से काम लिया जा रहा है। टेंडर को प्रक्रिया में डाल कर विभाग मौन हो गया। जबकि सदर अस्पताल के डीएस ने बार बार एनजीओ के काम को असंतोष जनक बताया था। जल्द टेंडर करने के लिये सीएस को लिखा। मगर आपसी तालमेल के चलते टेंडर को शिथिल कर दिया गया और भुगतान होता गया।बताते हैं कि इस मामले को एमएलसी सतीश कुमार ने विधान सभा में उठाया। इस पर विधान सभा से जांच रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग से मांगा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hospital administration surrounded by delay in tender