DA Image
Tuesday, November 30, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार मोतिहारीकाफी समृद्ध है बिहार का इतिहास, संस्कृति और सभ्यता

काफी समृद्ध है बिहार का इतिहास, संस्कृति और सभ्यता

हिन्दुस्तान टीम,मोतिहारीNewswrap
Sat, 29 Aug 2020 11:05 PM
काफी समृद्ध है बिहार का इतिहास, संस्कृति और सभ्यता

शहर के एलएनडी कॉलेज, मोतिहारी में आईक्यूएसी के द्वारा राष्ट्रीय बेव संगोष्ठी आयोजित की गई। बेब संगोष्ठी का विषय ‘बिहार: ए नेशनल हेरिटेज ऑफ प्राइड (बिहार: गौरव का एक राष्ट्रीय धरोहर) था। कार्यक्रम के प्रारंभ में वेब संगोष्ठी के अध्यक्ष-सह-प्राचार्य प्रो. (डॉ.)अरुण कुमार ने कहा कि पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, नेपाल और झारखंड से घिरे हुए 94163 वर्ग किलोमीटर का एक खूबसूरत प्रदेश बिहार , गौरवशाली इतिहास व संपन्न विरासत से परिपूर्ण है। यह भारत को विश्व के सांस्कृतिक पटल पर लाने में सदा अग्रणी रहा है। स्नात्तकोत्तर हिंदी विभागाध्यक्ष-सह-निदेशक, दूर शिक्षा निदेशालय, बीआरएबीयू प्रो.(डॉ.) सतीश कुमार राय ने कहा कि याज्ञबल्कय, मण्डन मिश्र, भारती, मैत्रेयी, कात्यायनी, गोपाल सिंह नेपाली एवं रामधारी सिंह दिनकर, नागार्जुन एवं फणीश्वरनाथ रेणू जैसे सपूतों को अपनी मिट्टी में जन्म देकर यह प्रदेश गौरवान्वित रहा है।

उन्होंने इन साहित्यकारों की अनुपम साहित्यिक कृतियों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि यह प्रदेश प्राचीन काल से लेकर आधुनिक काल तक सदा देश को दिशा दिखाती रही है। प्रो.(डॉ.) राजेश रंजन वर्मा ने कहा कि जनक, जरासंध, कर्ण, सीता, आचार्य मनु, कौटिल्य, चन्द्रगुप्त मौर्य, अशोक, बिंदुसार व बिम्बिसार से लेकर बाबू कुंवर सिंह व बाबू राजेन्द्र प्रसाद जैसे महापुरुषों का यह प्रदेश इतिहास, संस्कृति और सभ्यता काफी समृद्ध है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें