DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरी सब्जी उत्पादन का कॉरिडोर बनेगा पूर्वी चम्पारण

हरी सब्जी उत्पादन का कॉरिडोर बनेगा पूर्वी चम्पारण

आनेवाले दिनों में कैश क्रॉप्स के रूप में चर्चित हरी सब्जी की खेती किसानों की आय बढ़ाने का जरिया बनेगी। इसको लेकर पूर्वी चम्पारण को सब्जी उत्पादन के कॉरिडोर के रूप में विकसित किया जाएगा। राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड ,कृषि व किसान कल्याण मंत्रालय के निर्देश पर राज्य बागवानी मिशन ने इसकी कवायद शुरू की है। इस योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए आगामी 3-6 जून तक राज्य स्तरीय टीम द्वारा जिले में रिकॉनैसैंस सर्वे कराया जाएगा।

प्रखंडों से 200 सब्जी उत्पादक किसानों का होगा चयन : सब्जी उत्पादन को बढ़ावा देने की लांच नयी योजना के लिए जिले के प्रखंडों से 200 सब्जी उत्पादक किसानों का चयन किया जाएगा। इसके लिए प्रखंड उद्यान पदाधिकारी के माध्यम से 500 किसानों से आवेदन लिए जाएंगे।

इसमें ऐसे 200 किसानों का चयन किया जाएगा जो सब्जी की खेती करने में माहिर हों। इन चयनित किसानों में पुरुष 10 वीं कक्षा व महिला किसान को 8 वीं कक्षा पास होना आवश्यक होगा।

जिले के 17 प्रखंडों से मांगी गयी है किसानों की सूची : राज्य बागवानी मिशन के निदेशक सह मिशन निदेशक ने जिला उद्यान विभाग को पत्र लिखा है। इस आलोक में सहायक निदेशक जिला उद्यान ने जिले के 17 प्रखंडों से सब्जी उत्पादक किसानों की सूची तलब की है। इसमें मोतिहारी व हरसिद्धि 50-50,मधुबन व घोड़ासहन 40-40, ढाका, चिरैया, मेहसी, कोटवा, पहाड़पुर, पीपराकोठी व तुरकौलिया 30-30,बंजरिया, बनकटवा,सुगौली,पताही,संग्रामपुर व चकिया प्रखंड में 20-20 किसानों का चयन करना है।

सब्जी उत्पादक प्रखंडों में 3-6 जून तक होगा सर्वे : सब्जी उत्पादक 17 प्रखंडों में राज्य स्तरीय टीम सर्वे कर यह पता लगाएगी कि किसान कैसे सब्जी की खेती कर अधिक उत्पादन कर रहे हैं। प्रखंड क्षेत्र की मिट्टी की उर्वरा शक्ति के साथ जलवायु परिवर्तन से पड़नेवाले असर पर भी सर्वेक्षण करेगी। जलवायु के हिसाब से सब्जी उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए केन्द्रीय स्तर पर ट्रेनिंग के बाद ये किसान क्षेत्र में ब्रांड के रूप में कार्य करेंगे। ट्रेनिंग में इन किसानों को व्हाट्स एप से जोड़ा जाएगा।

कहते हैं अधिकारी

जिला उद्यान विभाग के सहायक निदेशक डॉ. श्रीकांत ने बताया कि प्रखंड उद्यान पदाधिकारियों के माध्यम से किसानों की सूची मांगी गयी है। इस सूची से 200 किसानों का चयन कर टीम के साथ सर्वे में लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिले में सब्जी उत्पादन को बढ़ावा देकर किसानों की आय बढ़ाने की यह नयी योजना लांच की गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Green vegetable production corridor will become Eastern Champaran