DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑनलाइन आवेदन को मिला टारगेट

खरीफ मौसम में डीजल अनुदान के लिए किसानों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व आवेदन कराने का लक्ष्य निर्धारित कर दिया गया है। इसके लिए किसान सलाहकारों को प्रति पंचायत 200 -200 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व आवेदन का टार्गेट दिया गया है। इसमें किसी तरह की लापरवाही सामने आने पर इसके लिए संबंधित किसान सलाहकार जिम्मेवार माने जाएंगे।

कृषि समन्वयकों को भी मिला टास्क: कृषि समन्वयकों को समय पर आवेदनों को सत्यापित करना है। सत्यापन के बाद इसे जिला कृषि पदाधिकारी के मेल पर ऑनलाइन करना है।

जिस पंचायत में किसान सलाहकार पदस्थापित नहीं हैं,उस पंचायत में पदस्थापित कृषि समन्वयक को दिये गये टार्गेट के अनुसार किसानों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व आवेदन कराना है। इसमें किसी तरह की कोताही बरतने पर कृषि समन्वयक जिम्मेवार समझे जाएंगे।

प्रखंडवार तैनात किये गये नोडल कृषि समन्वयक : डीजल अनुदान भुगतान में तेजी लाने के उद्देश्य से प्रखंडवार नोडल कृषि समन्वयकों की तैनाती की गयी है। इसमें परशुराम प्रसाद आदापुर,राजेश कुमार अरेराज,विकास कुमार पांडेय बंजरिया, देवपूजन सिंह बनकटवा, अजीत कुमार पांडेय चकिया,सीबी सिंह भास्कर छौड़ादानो, इम्तेयाज अहमद चिरैया, रणवीर सिंह ढाका,वीरेन्द्र प्रसाद घोड़ासहन, कमलेश मिश्रा हरसिद्धि, प्रमोद कुमार ठाकुर कल्याणपुर ,मुन्ना कुमार केसरिया ,नरेन्द्र कुमार मिश्र कोटवा, सुरेश कुमार मधुबन,राजेश कुमार श्रीवास्तव मेहसी,नंदकिशोर सिंह मोतिहारी,विनोद कुमार पहाड़पुर,ललित कुमार प्रसाद पकड़ीदयाल,श्रुति सिन्हा पताही,सुशील कुमार फेनहरा,नवल किशोर शर्मा पीपराकोठी, वेद प्रकाश पांडेय रामगढ़वा,सज्जादुल हसन रक्सौल,कृष्णा कुमार संग्रामपुर ,अरुण कुमार सिंह सुगौली,प्रेमचंद मिश्रा तुरकौलिया व रामगोपाल एटीएम को तेतरिया प्रखंड में नोडल के रुप में तैनात किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Found online application for