DA Image
26 फरवरी, 2021|10:01|IST

अगली स्टोरी

मोतिहारी में किसान की गोली मारकर हत्या

default image

मोतिहारी में किसान की गोली मारकर हत्या

मुफस्सिल थाने के हसुआहा गांव की है घटना

सो रहे किसान को मरी गई गोली

न्यूमेरिक

07 लोगों पर पत्नी के बयान से एफआईआर दर्ज

09 वर्ष पूर्व किसान के पिता की तलवार से काटकर हुई थी हत्या

मोतिहारी । हिन्दुस्तान प्रतिनिधि

मुफस्सिल थाने के हसुआहा गांव में मंगलवार रात सो रहे किसान कृष्णा मुखिया (47) की गोली मार हत्या कर दी गयी। किसान की पत्नी राधिका देवी के बयान पर मुफस्सिल थाने में सात लोगों पर एफआईआर दर्ज की गयी है। वहीं मामले में मृतक के भाई ने भी एफआईआर दर्ज करायी है। हत्या का कारण लड़की को भगाने का मामला बताया जा रहा है।

राधिका देवी ने आवेदन में कहा है कि वह अपने पति के साथ सोयी थी। 12 जनवरी की देर रात आरोपितों ने धावा बोला। उसकी नींद खुली तो वह बाहर निकली। आरोपित उसके पति को खोज रहे थे। पति सोये हुये थे। इसी दौरान आरोपितों ने उनके पति के सीने में गोली मार दी। गोली लगते ही उसके पति छटपटाने लगे। वह चिल्लाने लगी तो उसे पकड़ लिया गया। गोली मारने के बाद आरोपित फरार हो गए। आसपास के लोग वहां पहुंचे तो इलाज के लिए पति को सदर अस्पताल लाये, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। किसान की पत्नी के बयान पर हसुआहां गांव के ही धर्मेन्द्र मुखिया उर्फ पप्पु मुखिया, अशोक मुखिया, गगनदेव मुखिया, प्रवेश मुखिया, राकेश मुखिया, श्रीभगवान मुखिया, शशिभूषण कुमार पर हत्या करने का आरोप लगाया गया है। वहीं, किसान कृष्णा मुखिया के छोटा भाई पीडीएस दुकानदार बीरेन्द्र मुखिया के बयान पर गगनदेव मुखिया, पप्पु मुखिया उर्फ धर्मेन्द्र , शशि मुखिया, राकेश मुखिया व परवेश मुखिया को आरोपित किया गया है। उसका आरोप है कि आरोपितों ने उसके साथ मारपीट की और घर से दस हजार रुपये का ड्राफ्ट छीन लिये।

लड़की का अपहरण बना हत्या का कारण

हसुआहा गांव से ही एक लड़की का अपहरण 10 जनवरी को किया गया। जिसे नेपाल से बरामद किया गया था। लड़की की मां के बयान पर सामु मुखिया, बीरेन्द्र मुखिया, राजु मुखिया व तारा देवी पर लड़की के अपहरण का केस हुआ था। लड़की को नेपाल ले जाया गया। उसके साथ अनैतिक कार्य भी हुआ। परिजन नेपाल से लड़की को मुक्त कराकर घर ले आये। पॉक्सो एक्ट भी लगा हुआ है। जबकि मृत किसान की पत्नी ने बयान में बताया कि एक सप्ताह पूर्व मृतक के पुत्र सामु मुखिया को गांव की ही एक लड़की भगाकर नेपाल ले गयी थी। किसान कृष्णा मुखिया की हत्या में लड़की का अपहरण कारण बना है।

वर्ष 2011 में किसान के पिता रामचन्द्र मुखिया की भी तलवार से काटकर हत्या की गयी थी। इस संबंध में किसान के भाई बीरेन्द्र मुखिया का कहना है कि आरोपितों ने उसके पिता की पटपरिया ढाला के समीप तलवार व अन्य हथियार से काटकर हत्या कर दी थी। उनके पिता पीडीएस दुकानदार थे।

कोट

एफआईआर दर्ज कर ली गयी है। शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया। आरोपितों की खोज में छापेमारी जारी है।

- प्रभाकर पाठक, प्रभारी एसएचओ