DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नल -जल पर पंसस व मुखियों में हुई नोक झोंक

नल -जल पर पंसस व मुखियों में हुई नोक झोंक

प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित कृषि भवन में भारी हंगामे के बीच पंचायत समिति की बैठक बुधवार को हुई।

अध्यक्षता बीडीओ गौरी कुमारी ने की । बैठक में पंचायत समिति सदस्य राजन कुमार ने कहा कि नल जल योजना में बिहार का यह पहला प्रखंड है जहां इतना घटिया पाइप का इस्तेमाल हो रहा है। पंसस दिनेश कुशवाहा ने कहा कि जल नल योजना वार्ड क्रियान्वयन समिति को करना है। लेकिन मुखिया द्वारा अधिक कमीशन पर अपने चहेते ठेकेदार को ठेका दिया गया है। यही नहीं वार्ड सदस्यों से ब्लैंक चेक लेने के बाद ही वार्ड क्रियान्वयन समिति के खाते में राशि का हस्तांतरण किया गया है । मुखिया मिथलेश कुमार, अजय यादव व सत्येन्द्र सिंह अपने आसन से उठकर पंसस दिनेश कुशवाहा से मारपीट करने के लिये उतारू हो गये। प्रखंड प्रमुख व बीडीओ द्वारा बीच बचाव कर मामला शांत कराया गया । सदस्यों ने सेविका सहायिका बहाली में सीडीपीओ रीमा कुमारी द्वारा दलालों के माध्यम से राशि उगाही करने का आरोप लगाते हुए अविलंब बहाली पर रोक लगाने की मांग की । सीडीपीओ ने कहा कि बहाली प्रक्रिया में वे कहीं नहीं हैं। बहाली वार्ड में आम सभा से होनी है। मुखिया दिनेश यादव, मिथलेश कुमार, अजय यादव व गणेश बैठा ने शिक्षा की लचर व्यवस्था के लिए बीईओ कृष्ण कुमार को दोषी माना। पंसस अर्चना देवी ने सीओ रणधीर कुमार पर आरोप लगाते हुए कहा कि बाढ़ क्षति का लाभ जमीन वाले को छोड़ बिना जमीन वाले को दिया गया। इसकी जांच होनी चाहिये। बैठक में बीएओ भारती कुमारी, कल्याण पदाधिकारी सतीश कुमार, डॉ हातिम जावेद, मुखिया रानी देवी, कपिल मुनि सहनी, बबिता देवी ,शैलेश दुबे, दिनेश प्रसाद, भारतभूषण सिंह आदि थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Discussion on Nal-Jal Panchayat Committee Members and Heads