DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनओसी बिना पुलियों का हुआ निर्माण

default image

प्रखंड के भवानीपुर पंचायत में मनरेगा से घोड़ासहन शाखा नहर के उप-वितरणी में बिना विभागीय अनुमति के चार पुलियों का निर्माण व उस पर मिट्टी भराई करा दिया गया है। इससे बौखलाए सिंचाई विभाग के एसडीओ ने निर्माणाधीन पुलियों को तोड़ने का निर्देश दिया है।

मनरेगा योजना के तहत बिना विभागीय एनओसी के ढोड़ा साह के खेत से आरईओ रोड घोड़ासहन शाखा नहर की नहरी में मिट्टी भराई व पुलिया निर्माण करा दिया गया है। सिंचाई विभाग के एसडीओ वीरेंद्र कुमार ने इस योजना के तहत निर्मित पुल को अविलंब तोड़ कर परिसर खाली करने का अल्टीमेटम दिया है। नकरदेई थाना क्षेत्र के चैनिया चौक से पूरब घोड़ासहन शाखा नहर के चैनपुर उप-वितरणी के पश्चिमी बांध पर मनरेगा के तहत अवैध रूप से हल्का मिट्टी भराई कर पांच आरसीसी पुलिया का निर्माण कराया जा रहा है। उक्त पुलिया का निर्माण अमर यादव के खेत के पास भी कराया गया है। बताते हैं कि उक्त निर्माण कार्य सिंचाई विभाग के बिना एनओसी लिए कराया गया है। यह योजना 25/ 2018 की है,लेकिन अभी तक अधर मेंं लटका हुआ है । जबकि इसके निर्माण में अब तक लाखों रुपए व्यय किए जा चुके हैं। यह कार्य महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना के तहत निर्माणाधीन है जिसकी प्राक्कलन राशि करीब 4 लाख 60 हजार रुपये है। सिंचाई विभाग के एसडीओ का कहना है कि बिना किसी सूचना या विभागीय एनओसी के मनरेगा अधिकारियों ने सिंचाई विभाग की उप-वितरणी के पश्चिमी तटबंध को काटकर पुलिया के निर्माण किया है।जो सरासर विभागीय नियम का उल्लंघन है। मनरेगा आदापुर पीओ को इस स्थिति से अवगत कराते हुए अपने खर्चे पर अविलम्ब इस अवैध निर्माण को तोड़वाकर सिंचाई विभाग की भूमि परिसर को खाली करने का निर्देश दिया गया है।

सेवक सुजीत कुमार ने बताया कि वे जानकारी के अभाव में बिना एनओसी लिए लाखों रुपये की लागत से निर्माण कार्य करा चुके हैं,हालांकि यह निर्माण कार्य स्थानीय मुखिया विजय कुमार प्रसाद के निर्देश पर कराया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Construction of NOC culverts