DA Image
26 जनवरी, 2021|3:40|IST

अगली स्टोरी

सीएम का आना मित्र धर्म का बड़ा उदाहरण

default image

पिपरा थाना के बलवा गांव में शुक्रवार को सीएम नीतीश कुमार के संभावित आगमन को लेकर गांव वालों को पुराने दृश्य बार-बार याद आ रहे हैं, जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्व. दरोगा पांडे के हाथों से लेकर दही चुड़ा और गुड़ खाया था। स्व. श्री दरोगा पांडे के गोद लिए हुए भतीजा नागेंद्र पांडे ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार ने वर्ष 2009 और 2017 में बड़े प्रेम से उनके यहां दही चूड़ा लेकर खाया था। उस समय स्व. श्री पांडे ने सीएम नीतीश कुमार और अपनी तुलना भगवान श्री कृष्ण और सुदामा से की थी । उन्होंने उस समय सीएम से आग्रह किया था कि उनके मरने के बाद उनके श्राद्ध कार्यक्रम में वे जरूर आएंगे । हालांकि इस बार उन्हें चूड़ा दही खिलाने के लिए स्व. पांडे नहीं होंगे । लेकिन पूरा गांव सीएम के स्वागत के लिए मौजूद रहेगा। मौके पर मौजूद पिपरा के भाजपा विधायक श्याम बाबू प्रसाद यादव ने बताया कि जल्द ही गांव में स्वर्गीय श्री पांडे की एक आदम कद मूर्ति की स्थापना की जाएगी, जिसके लिए स्थल का चयन किया जा रहा है।

गांव में उत्साह का माहौल: सीएम के आगमन को लेकर गांव में उत्साह का माहौल व्याप्त है। पैक्स अध्यक्ष मुन्ना सिंह की अगुवाई में पूरा गांव सीएम के स्वागत की तैयारी में जुटा हुआ है । स्व. पांडे के भतीजा नागेंद्र पांडे , उनके पुत्र सुजीत पांडेय, सतीश पांडेय,छोटन पांडेय श्राद्ध कार्यक्रम के साथ-साथ सीएम के स्वागत की तैयारियों में भी व्यस्त हंै। गौरतलब है कि वर्ष 2009 में अपने विकास यात्रा के दौरान सीएम नीतीश कुमार ने बलवा गांव के समीप रात्रि विश्राम किया था । जहां 23 जनवरी 2009 की सुबह वह दरोगा पांडे के घर जाकर उनके हाथों से दही चुरा लेकर खाया था । पुन: 13 दिसंबर 2017 को अपने समीक्षा यात्रा के दौरान भी उन्होंने दरोगा पांंडे के यहां जाकर दही चुरा खाया था।दरोगा पांडे से गांव वालों की समस्या जानकर मुख्यमंत्री ने गांव के पास के बलवा मन पर एक पुल का निर्माण भी करवा दिया। उधर सीएम के आगमन की सूचना पाकर गांव में खुशी का माहौल है। ग्रामीणों का कहना है कि मुख्यमंत्री ने मित्र धर्म का एक बड़ा उदाहरण समाज को दिया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:CM 39 s great example of friend religion