DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार मोतिहारीडीएम के निर्देश के बाद भी ब्लड सेपरेटर की नहीं हुई खरीदारी

डीएम के निर्देश के बाद भी ब्लड सेपरेटर की नहीं हुई खरीदारी

हिन्दुस्तान टीम,मोतिहारीNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 11:10 PM
डीएम के निर्देश के बाद भी ब्लड सेपरेटर की नहीं हुई खरीदारी

मोतिहारी | नगर संवाददाता

मोतिहारी रेड क्रॉस के चेयरमैन के इस्तीफा के बाद रेड क्रॉस प्रबंध समिति को 25 जुलाई को भंग कर दिया गया। इसके बाद डीएम द्वारा अगले चुनाव तक परामर्शदात्री का गठन कर वरीय प्रशानिक अधिकारी को संचालन के लिए प्रभार दिया गया। लेकिन अभी भी हालात में सुधार नहीं दिख रहा।

आलम यह है कि डीएम के निर्देश के बाद भी ब्लड सेपरेटर की खरीदारी नहीं हुई। जांच किट की खरीदारी हो रही है वह भी पहले से अधिक कीमत पर। बताते हैं कि रेड क्रॉस के स्टॉफ द्वारा इसका विरोध भी किया गया। कहा गया कि पहले सस्ते रेट पर आपूर्ति होती थी। मगर इसको नजर अंदाज कर नए एजेंसी से अधिक कीमत पर खरीदारी हो रही है। जिस पर जांच की मांग उठने लगी है।

परामर्श कमेटी का किया गया गठन : बताया जाता है कि प्रबंध समिति के भंग होने के बाद डीएम के द्वारा बेहतर प्रबंधन के लिए परामर्श कमेटी बनाया गया। रेड क्रॉस में मरीज के इलाज के लिए महिला चिकित्सक सहित दो चिकित्सकों की ड्यूटी आउट डोर के लिए लगायी गयी। ब्लड सेपरेटर जो पुरानी मांग थी उसकी भी खरीदारी करने का निर्देश दिया।वित्तीय अनियमितता की शिकायत पर जांच कमेटी का भी गठन किया गया। चुनाव तक इसके संचालन के लिये वरीय प्रशासनिक अधिकारी को इसका प्रभार भी दिया गया। मगर हालत यह है कि जो भी लोग परामर्शदात्री सदस्य बनाये गए हैं उनमें अधिकांश सदस्य के पास रेड क्रॉस के लिए समय नहीं है। इधर, रेड क्रॉस की राज्य कमिटी ने भी चुनाव के लिए पत्र दिया है। परंतु इस दिशा में कोई सार्थक प्रयास दिखाई नहीं पड़ रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार, रेड क्रॉस के लिए जो जांच किट की खरीदारी की जा रही है उसमें में भी पहले की खरीदारी और अबकी खरीदारी के रेट में भी काफी अंतर है। जिसको लेकर कई भंग प्रबंध समिति के सदस्यों ने इसकी जांच डीएम से करवाने की मांग की है। साथ ही चुनाव कराने की भी मांग की है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें