A servant was exempted from fraud - फर्जीवाड़े में सेविका हुई चयनमुक्त DA Image
12 दिसंबर, 2019|2:10|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्जीवाड़े में सेविका हुई चयनमुक्त

default image

फर्जीवाड़े कर आंगनबाड़ी सेविका के पद पर बहाल मनोरमा कुमारी को चयन मुक्त कर दिया गया है। उक्त सेविका प्रखंड के नकरदेई पंचायत के आंगनबाड़ी केंद्र संख्या- 201 की सेविका थी।

विभागीय मार्गदर्शिका के आलोक में नवचयनित सेविकाओं की प्रमाण -पत्रों का सत्यापन कराया गया। जांच के दौरान केंद्र की सेविका मनोरमा कुमारी के शैक्षणिक प्रमाण -पत्र संस्कृत शिक्षा बोर्ड से सत्यापन में फर्जी पाया गया है। इसके बाद विभागीय कार्रवाई की गाज गिरी है। आईसीडीएस कार्यालय सभी सेविकाओं के प्रमाण-पत्रों की जांच हेतु विभाग युद्धस्तर पर जुटा हुआ है, वहीं पूर्व से जाली शैक्षणिक प्रमाण पत्र पर चयन को लेकर लगाए जा रहे कयासों को अब और बल मिलने लगा है।सुक्ष्म जांच हो तो कई सेविकाएं की नौकरी खतरे में पड़ सकती है,जबकि दूसरी ओर विभाग के इस सख्ती से फर्जीवाड़ा कर चयन होने वाले सेविकाओं में हड़कम्प व्याप्त है।

इस संबंध में सीडीपीओ ईरा कुमारी का कहना है कि फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर चयनित सेविकाओं के खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी। आगे भी अन्य फर्जीवाड़े की जांच की जा रही है। दोषी पाये जाने पर कार्रवाई होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:A servant was exempted from fraud