DA Image
25 अक्तूबर, 2020|1:27|IST

अगली स्टोरी

बुनकरों को नहीं मिली विभाग से राशि



बुनकरों को नहीं मिली विभाग से राशि

बुनकरों को विभाग से आवंटित राशि नहीं मिला है। उदासीनता की वजह से बुनकरों को लूम खरीद के लिए राशि वापस हो गयी है। जिले के 50 हजार से अधिक बुनकरों में रोष है। क्षेत्रीय हस्तकरघा बुनकर सहयोग संघ के वरीय सदस्य सह कॉपरेटिव निदेशक मो. हफीजुल्ला ने बताया कि उनके डेपलप के लिए लायी गयी हर योजना अधर में लटक गयी है। बुनकर कलस्टर योजना जिले में दो स्थानों पर शुरू हुई। योजना में राशि भी उपावंटित कर दिया गया। करोड़ों की योजना दम तोड़ दी है और बुनकर जस के तस हालत में रह गये हैं। बताया जिले के 20 बुनकरों को 68 इंच फ्रेम लूम लगाए जाने के लिए चिह्नित किया गया था। पर अनुदान का लाभ बुनकरों को नहीं मिला। इस मद का पांच लाख 40 हजार रुपया वापस कर दिया गया। जिले के 20 बुनकरों को फ्रेम लूम लगाने के लिए दो किस्तों में 27 हजार रुपया दिया जाना था। जिला उद्योग प्रबंधक विनोद कुमार सिंह ने बताया कि अनुदान के लिए पुन: विभाग को लिखा गया है। अनुदान की राशि प्राप्त होते ही बुनकरों के खातें में राशि क्रेडिट कर दी जाएगी। लंबे समय से बुनकरों की पहचान के लिए यूआइडी कार्ड बनाने की योजना अधर में है। लगभग दो साल बाद भी 90 बुनकरों का ही यूआईडी बना है। भारी संख्या में बचे बुनकरों का शीघ्र यूआईडी बनाये जाने का दावा विभाग से किया जाता रहा है। क्षेत्रीय हस्तकरघा बुनकर सहयोग संघ के चेयरमैन हामिद अंसारी ने बताया कि कई बार इसके लिए जीएम सह मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी को कहा चुका है। पर इस दिशा में अब तक ठोस कार्रवाई नहीं की जा रही है। बुनकर मूसा अंसारी, अबरार अंसारी, असगर अंसारी, नदीम अंसारी, नेहाल अंसारी, फिरोज और नदीम ने बताया कि इस चुनाव में नेताओं से बदहाल हातल के लिए सवाल पूछेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Weavers did not receive funds from the department