DA Image
27 सितम्बर, 2020|3:21|IST

अगली स्टोरी

बैठक में गैर प्रतिनिधि के प्रवेश को ले हुआ हंगामा

default image

आवास योजना और विकास योजनाओं की धीमी गति और मनमानी पर बैठक की समाप्ति के साथ ही हंगामा शुरू हो गया। बैठक की समाप्ति की घोषणा होते ही सदन में पार्षद प्रतिनिधि प्रवेश कर गये और नप कार्यालय द्वारा बरती जा रही लेटलतीफी पर रोष जताया। वार्ड पार्षद प्रभावती देवी के पुत्र अमित कुमार नप में लगातार दिये जा रहे शिकायत के आवेदन को रद्दी की टोकरी में फेंके जाने पर सवाल उठाया और अधिकारी व कर्मियों की कार्यशैली पर क्षोभ व्यक्त किया। सदन में आकर बात रखने के इस तरीके का पार्षदों ने विरोध किया। सदस्य मनीष कुमार सिंह ने कहा कि बैठक में वे अपनी बात नहीं रख सकते।आप कार्यालय में अपनी बात रखें। यहां केवल सम्मानित सदस्य ही अपनी बात रखेंगे। इसपर हंगामा की नौबत आ गयी। तैनात पुलिस फोर्स ने हस्तक्षेप किया और लोगों को बैठक से बाहर ले गयी। लेकिन इसके बाद भी लगभग एक घंटे तक नप में नप कार्यसंस्कृति पर हंगामा होता रहा।

नप की कार्यसंस्कृति में लाएंगी सुधार:

मधुबनी। मधुबनी को साफ व स्वच्छ बनाने की दिशा में ठोस व कारगर पहल होगी। साफ-सफाई उनकी पहली प्राथमिकता होगी। ताकि शहर के नागरिक स्वच्छ माहौल में रह सके और इस तरह की नीति बने कि भविष्य में उसका फॉलो हो। नगर परिषद में बतौर इओ प्रभार में कामकाज शुरू करती हुई आइएएस प्रीति गहलोत ने यह बात कही। वे यहां 22 अगस्त तक प्रभार में विधिवत इओ रहेंगी। बताया कि वे प्रशिक्षण के लिए अल्पकालिक कार्यभार संभाला है। चर्चा के दौरान बताया कि यहां की कार्यसंस्कृति में सुधार लायेंगी और जो गड़बड़ी कर रहे हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। एक सितंबर को हर कर्मियों से वे उनके दायित्व से वाकिफ होंगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Uproar over non-representative entry in meeting